अमेरिका में रिश्वतखोरी मामले में हैदराबाद एमेजॉन के 2 पूर्व कर्मचारियों पर लगे आरोप

न्यूयॉर्क| हैदराबाद में एमेजॉन के 2 पूर्व कर्मचारियों और 4 अन्य पर अमेरिकी संघीय अदालत में एक कथित रिश्वत घोटाले को लेकर आरोप लगाया गया है। डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस के मुताबिक यह घोटाला 100 मिलियन डॉलर का है।

शुक्रवार को विभाग ने कहा, हैदराबाद में एमेजॉन के दो पूर्व सेलर-सपोर्ट एसोसिएट्स निषाद कुंजु और रोहित कादिमिसट्टी और 4 अन्य पर सिएटल संघीय अदालत में 'वाणिज्यिक रिश्वत देने' और कंप्यूटर सिस्टम को हैक करने की साजिश करने का आरोप लगाया गया है। बता दें कि एमेजॉन का मुख्यालय सिएटल में ही है।

अदालत के दस्तावेजों में कुंजु पर आरोप लगाया गया है कि उसने कंपनी छोड़ने से पहले दूसरों से रिश्वत ली और अपने पूर्व सहयोगियों को लोगों को भर्ती करने के लिए रिश्वत दी।

कुंजु के अलावा कम से कम नौ अन्य एमेजॉन कर्मचारियों को कथित तौर पर रिश्वत मिली, लेकिन अदालत के दस्तावेजों में उनका नाम नहीं है।

Advertisements

ये सभी 6 आरोपी एमेजॉन प्लेटफॉर्म पर थर्ड पार्टी के विक्रेताओं को प्लेटफॉर्म पर सामान बेचने के लिए कंसल्टेंसी देते थे और उन्होंने अपने ग्राहकों को सीधे मदद करने या प्रतिद्वंद्वी विक्रेताओं को नुकसान पहुंचाने के लिए 1 लाख डॉलर की रिश्वत का लेन-देन किया।

सिएटल में संघीय अभियोजक ब्रायन टी.मोरन ने कहा, "इस आपराधिक आचरण से अंतिम पीड़ित वह खरीददार जनता है जिसे ऐसा खतरनाक सामान मिलता है, जिसे बाजार से हटा दिया जाना चाहिए था।"

एमेजॉन ने कहा, "ऐसे कार्यों के कारण बुरे लोग ईमानदार विक्रेताओं से दूर हो जाते हैं, जो कि हमारे विक्रेताओं का बड़ा हिस्सा हैं। विक्रेताओं या कर्मचारियों द्वारा किए जा रहे संदिग्ध व्यवहार का पता लगाने के लिए एमेजॉन के पास सिस्टम है और जांच करने के लिए हर जगह टीमें हैं, जो ऐसी प्रतिबंधित गतिविधियों को रोकती हैं।"

Leave a Comment