संयुक्त राष्ट्र को 75वीं वर्षगांठ से पहले मजबूत बनाने की वैश्विक अपील

संयुक्त राष्ट्र|  संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर होने जो रही एक उच्चस्तरीय बैठक से पहले नेताओं के एक समूह ने दुनिया से संयुक्त राष्ट्र को मजबूत बनाने का आह्वान किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 'ए टाइम फॉर रिन्यूवल : कॉलिंग फॉर ए स्ट्रॉन्गेस्ड मल्टीलेटरल सिस्टम' शीर्षक से शुक्रवार को जारी किए एक खुले पत्र में दुनिया भर के 48 पूर्व संयुक्त राष्ट्र और सरकारी अधिकारियों ने 193-राष्ट्रों के निकाय की 75 वीं वर्षगांठ पर 'एक मजबूत, जबावदेह और समावेशी बहुपक्षीय प्रणाली' को लेकर आह्वान किया।

 

पत्र में नेताओं ने कहा, "वैश्विक प्रशासन के इस संस्थागत ढांचे को दुनिया में मानव सुरक्षा और सतत विकास सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक मार्गदर्शन, नेतृत्व और निर्णय प्रदान करने के लिए और अधिक काम करना चाहिए। जलवायु परिवर्तन से लेकर मानवाधिकारों, लैंगिक और नस्लीय समानता और सतत विकास से लेकर अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा तक- अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को संयुक्त राष्ट्र के चार्टर, एजेंडा 2030 और पेरिस समझौते का सम्मान करना चाहिए।"

इसमें आगे कहा गया, "कोविड -19 महामारी से उबरने के लिए राष्ट्रीय नेतृत्व और प्रभावी वैश्विक सहयोग की जरूरत है।"

Advertisements

आयरलैंड की पूर्व राष्ट्रपति और मानवाधिकारों के लिए संयुक्त राष्ट्र के पूर्व उच्चायुक्त मैरी रॉबिन्सन ने कहा, "बहु-पक्षवाद एक विकल्प नहीं है, बल्कि यह एकमात्र रास्ता है जो एक ग्रीन, टिकाऊ और न्यायसंगत रिकवरी दे सकता है।"

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र की अध्यक्ष और इक्वाडोर की पूर्व विदेश मंत्री मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा ने कहा कि "कोविड-19 महामारी के लिए एक समन्वित प्रतिक्रिया का नेतृत्व करने में यूएन की महत्वपूर्ण भूमिका है।"

इस पत्र में हस्ताक्षर करने वालों में संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की मून भी शामिल हैं। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधान मंत्री केविन रुड, न्यूजीलैंड की पूर्व प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क आदि भी हैं।

यह पत्र हस्ताक्षरों के लिए 24 अक्टूबर तक खुला रहेगा।

 

Leave a Comment