पुलि‍स स्‍मृति‍ दि‍वस पर 95 बटालि‍यन CRPF ने दी अपने 10 जांबाज शहीदों को सलामी

वाराणसी। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी की सुरक्षा के लि‍ये दि‍न रात तैनात रहने वाले 95वीं बटालि‍यन सीआरपीएफ के जवानों ने सोमवार को पुलि‍स स्‍मृति‍ दि‍वस पर अपने 10 जांबाज सि‍पाहि‍यों को श्रद्धासुमन अर्पि‍त कि‍या।

पहाड़िया मंडी वाराणसी में अवस्थित 95वें बटालियन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह ने इस अवसर पर वाराणसी में तैनात जवानों को उन 10 जांबाजों की वीरगाथा सुनाई जि‍नकी वीरगति‍ को याद करते हुए देशभर की सभी पुलि‍सबल इसे ससम्‍मान मनाती हैं।

कमांडेंट ने बताया कि समुद्र तल से 10530 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख की जमा देने वाली ठंड में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की एक टुकड़ी तैनात थी, दिनांक 21 अक्टूबर 1959 को लद्दाख के हॉट स्प्रिंग में देश की सुरक्षा की प्रथम पंक्ति में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के एक छोटे से गश्ती दल पर चीनी सेना द्वारा भारी संख्या में घात लगाकर हमला किया गया। इस लड़ाई में 10 केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के रणबांकुरे ने कर्तव्य की पंक्ति पत्र में सर्वोच्च बलिदान दिया।

उन्‍होंने बताया कि‍ केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के रणबांकुरों द्वारा शौर्य के असाधारण कार्य को याद करने के लिए 21 अक्टूबर को देश भर में सभी पुलिस बल द्वारा पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर 95वें बटालियन के अधि‍कारी अजय द्विवेदी, महेंद्र कुमार मिश्र, विकास कुमार और संजीत कुमार सहि‍त जवानों ने अपने जांबाजों को श्रद्धांजलि‍ अर्पि‍त की।

देखें तस्‍वीरें

Loading...