विज्ञापन

वाराणसी। प्रदेश शासन द्वारा जिले के हर हॉटस्पॉट एरिया को सील करने के आदेश के बाद से ही सोशल मीडिया पर कर्फ्यू की अफवाह फैलने लगी है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने प्रदेश शासन के आदेश के बारे में स्पष्ट करते हुए बताया है कि शासन के द्वारा बिलकुल साफ स्पष्ट किया गया है कि सीलिंग की कार्रवाई केवल डिस्ट्रिक्ट में हॉटस्पॉट एरिया में ही होनी है।

क्या है हॉटस्पॉट-
जिलाधिकारी ने कहा कि हॉटस्पॉट एरिया हम उनको कहते हैं, जहां पॉजिटिव केसेज़ पाये गए हैं। पॉजिटिव केसेज़ पाये गाए घर और मुहल्ले को मिलाकर जहां-जहां संक्रमित व्यक्ति घूमा हो या रहा हो। उस पूरे एरिया को चिह्नित कर उसे सील कर दिया जाता है, उसे हॉटस्पॉट कहा जाता है। उस हॉटस्पॉट एरिया को बांस, बल्ली बैरिकेटिंग लगा कर बंद कर दिया जाता है औऱ जगह को पूरी तरह सील कर दिया जाता है।

उन्होंने बताया कि हॉटस्पॉट एरिया में तीन-तीन की शिफ्ट में मजिस्ट्रेट पुलिस की ड्यूटी लगेगी, साथ ही ड्रोन से पूरे एरिया की निगरानी भी की जाएगी। शासन का स्पष्ट आदेश है कि जिले के हॉटस्पॉट एरिया को ही सिर्फ सील किया जाना है। वाराणसी में चार दिन पहले से ही हॉटस्पॉट सीलिंग की कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने बताया कि अभी तक टोटल 6 हॉटस्पॉट एरिया वाराणसी में सामने आये हैं, जिनमें दो केसेज़ थान बड़ागांव और थाना शिवपुर को पूर्व में ही सील कर दिया गया था। बाद में दोनो गावों के मरीज ठीक होकर घर चले गये औऱ पूरे गांव की स्कैनिंग और स्क्रीनिंग के बाद एक भी पॉजिटिव केस नहीं पाया गया तो सीलिंग को हटा दिया गया।

वर्तमान में 4 हॉटस्पॉच एरिया सील है, जिसमें मदनपूरा, बजरडीहा, लोहता और गंगापुर क्षेत्र शामिल हैं। इन सभी एरिया में बकायदा मजिस्ट्रेट की ड्यूटी लगती है। अगर वाराणसी में और कोरोना पॉजिटिव केसेज़ बढ़ते हैं तो उन एरिया को भी हॉटस्पॉट एरिया में सील किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने शहरवासियों के शंका को दूर करते हुए कहा कि वर्तमान में लॉकडाउन में जो व्यवस्था वाराणसी में लागू है, आगे भी वहीं व्यवस्था लागू रहेगी। इसमें किसी भी प्रकार का एडिशन-डिलिशन नहीं किया जाएगा। आवश्यक सर्विसेज़ और आवश्यक सामग्रियों की मण्डियां, रिटेल की दुकानों के वक्त, बैंक सेवा, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी, दवा की दुकाने सबकी टाइमिंग जैसे चल रही हैं, वैसे ही रहेंगी।

उन्होंने बताया कि हॉटस्पॉट वाले एरिया में ही सिर्फ इन सब सुविधाओँ को बंद किया जायेगा। केवल 1-1 घंटे की ढील सुबह शाम दी जाएगी। उसी समय दुध, सब्जी आवश्यक सामग्री अंदर जाएगी और एक घंटे के बाद बाहर निकल आयेगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि बॉर्डर सील के बारे में जो निर्णय है वो केवल लॉकडाउऩ तक ही है। अगर प्रशासन द्वारा लॉकडाउन की अवधी बढ़ेगी तो वह जानकारी उस वक्त दे दी जाएगी।

देखें वीडि‍यो

विज्ञापन