विज्ञापन

वाराणसी। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए घोषित 21 दिनों के लॉक डाउन के वजह से सभी कारखाने, दुकान, प्रतिष्ठान, दुकानें अस्थायी रूप से बंद हैं। ऐसे में श्रम आयुक्त डॉ सुधीर एम बोबडे ने आदेश दिया है कि अवकाश पर गए कर्मचारियों को पूरा वेतन दिया जाएगा

विज्ञापन

डॉ सुधीर ने कहा है कि लॉक डाउन के दौरान घर में रहना बाध्यता है। इसी कारण श्रमिकों के वेतन में कसीस प्रकार की कटौती नहीं की जाए। महामारी अधिनियम का हवाला देते हुए कहा गया है कि लोगों को अलग अलग और घरों पर रहना अनिवार्य है।

विज्ञापन

कर्मचारी एवं श्रमिक लॉक डाउन खत्म होने पर ही स्वस्थ रूप से काम पर आएंगे। इस आदेशों का अनुपालन करने के लिए प्रतिष्ठानों, कारखानों, जिलाधिकारी, ट्रेड यूनियन, उद्योग बंधु, श्रम विभाग आदि को सूचित कर दिया गया है।

विज्ञापन
विज्ञापन