Information and complaints received in covid-19 war room are being settled daily
विज्ञापन

वाराणसी। कोरोना वायरस-19 के संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने कोविड-19 वार कंट्रोल रूम बनाया है, जिसके टोल फ्री नंबर 1077 पर रोज़ाना 100 काल आ रही है। इसी क्रम में बुधवार को जहां एक ही परिवार के चार लोगों ने अलग-अलग नंबरों से फोन कर राशन की मांग की तो कई फर्जी सूचनाओं से कंट्रोल रूम में मौजूद अधिकारी परेशान भी रहे।

जिला प्रशासन द्वारा बनाये गये कोविड-19 वार कंट्रोल रूम प्राथमिकता के आधार पर कॉलर्स की समस्याओं का समाधान कर रहा है।

कोविड-19 वार कंट्रोल रूम पर बुधवार को सिगरा क्षेत्र के एक परिवार के चार सदस्यों ने फोन कर खाद्यान्न की मांग की। पहले पति, फिर पत्नी उसके बाद बच्चा और फिर सास ने फोनकर बताया कि घर में खाने को कुछ भी नहीं है। कृपया राशन उपलब्ध करा दीजिए। शिकायत के आधार पर जब क्विक रिलीफ टीम राशन लेकर पहुंची तो चारो लोग एक ही घर के सदस्य निकले जिसपर टीम द्वारा उन्हें समझाया गया कि ऐसा न करें। ऐसा करने से कई लोगों तक राशन नहीं पहुँच पा रहा है।

इस सम्बन्ध में नगर आयुक्त गौरांग राठी ने बताया कि कोविड-19 वार कंट्रोल रूम पर लगातार लोगों के फोन आ रहे हैं। इसमें लोग डाक्टरों से सलाह भी ले रहे हैं। बुधवार को कोविड-19 वार कंट्रोल रूम में खोजवा के गौतम ने फोनकर डॉक्टरों से कहा कि उन्हें छींक आ रही है और जुकाम हो गया है। डॉक्टरों ने पूछताछ कर उन्हें दवा दी। खोजवा की सुमन ने बताया कि बुखार आ रहा है। डॉक्टर ने उनसे पूछताछ कर दवा बताई।

इसके अलावा बजरडीहा के चंदन ने नगर निगम के अधिकारियों से दवा छिड़काव कराने की मांग की। आदमपुर के सत्यनारायण ने सीवर के ढक्कन टूटने के बारे में बताया। इसी प्रकार पुलिस से सिगरा के संदीप ने फोन कर बताया कि उनके घर के बगल में काफी भीड़ लगी है।

विज्ञापन