देव दीपावली : गंगा मइया की 108 किलो की अष्टधातु प्रतिमा का होगा विशेष श्रृंगार

वाराणसी। कर्तव्यों को सिर का ताज बनाने वाले राज्य पुलिस के शहीद जवानों के सम्मान में समर्पित कार्तिक पूर्णिमा की शाम और दीपों की अनंत श्रृंखला का दीदार इस बार देव दीपावली पर होगा। इस संबंध में गंगोत्री सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष पंडित किशोरी रमन दुबे ‘बाबू महराज’ ने पत्रकार वार्ता के दौरान दी।

उन्होंने बताया कि 29वें वर्ष में इस बार देव दीपावली की शुरुआत वैदिक परंपराओं के मुताबिक मंगलाचरण के साथ किया जाएगा। शास्त्रोक्त विधि से पूजन के बाद मां गंगा की 51 लीटर दूध से रुद्राभिषेक किए जाने के साथ घाट की सीढ़ियों और मढ़ी पर मां गंगा की महाआरती होगी।

गंगा तट पर मां गंगा के अष्टधातु की 180 किलो की प्रतिमा का विशेष श्रृंगार देशी-विदेशी फूल के समावेश से होगा।

केदार घाट पर होगी तीन आरती
उन्होंने बताया कि दूसरी तरफ केदार घाट की सीढ़ियों पर तीन आरती संपन्न होगी। इसी दिन राज्य पुलिस के शहीद हुए जवानों की याद में अश्विन पूर्णिमा 13 अक्टूबर से जल रही आकाशदीप का समापन भी होगा। देव दीपावली के साथ बनारस के युवा गायकों में कमलेश शुक्ला और अर्चना म्हस्कर अपने सुर को साज देंगे।

मंत्री नीलकंठ तिवारी होंगे मुख्य अतिथि
आयोजन में मुख्य अतिथि राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महामंडलेश्वर संविदा नंद सरस्वती करेंगे। अति विशिष्ट अतिथि के रूप में अतुल कुमार गोयल (प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी निदेशक यूको बैंक) होंगे।

जानकारी देते वक्त मुख्य रूप से कन्हैया त्रिपाठी, शांतिलाल जैन, गंगेश्वर धर दुबे, दिनेश शंकर दुबे, संकठा प्रसाद, दिलीप गुप्ता, रामबोध सिंह सहित मौजूद रहे।

Loading...