विज्ञापन

वाराणसी। विभिन्न प्रदेशों एवं जनपदों से ट्रकों एवं पैदल वाराणसी के रास्ते अपने घरों के लिए गंतव्य को प्रवासी मज़दूर जा रहे हैं। ऐसे प्रवासी श्रमिकों को शुक्रवार को वाराणसी जनपद से बसों द्वारा उनके गंतव्य की तरफ भेजा गया। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि 31 बसों के माध्यम से कुल 968 प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों के लिए गंतव्य तक भेजा गया।

ऐसे प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक बसों के माध्यम से भेजे जाने जिला प्रशासन ने व्यवस्था की थी। वाराणसी-इलाहाबाद मोहनसराय के पास मदर लैंड पब्लिक स्कूल राजातालाब एवं वाराणसी- गाजीपुर मार्ग पर संदहा के पास गोपाल मंडपम में डिस्पैच सेंटर बनाया गया है। ऐसे श्रमिकों को यहां पर लाकर और यहां से बसों के माध्यम से उनके गंतव्य तक भेजे जाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराया गया है।

शुक्रवार को मदर लैंड पब्लिक स्कूल राजातालाब से शुक्रवार को 17 बसों के माध्यम से 697 प्रवासी श्रमिकों को उनके उनके घरों के लिए जाने के लिए उनके जनपदों को भेजा गया। मदर लैंड पब्लिक स्कूल राजातालाब से जनपद चंदौली के लिए 10 वर्षों से 398, सोनभद्र के लिए एक बस से 35, जौनपुर के लिए एक बस से 27 तथा कैंट वाराणसी के लिए पांच बसों से 237 सहित कुल 17 बसों से 697 प्रवासी कामगारों को उनके गंतव्य तक जाने के लिए रवाना किया गया।

जिलाधिकारी ने बताया कि सुबह 6 बजे से ही प्रवासी श्रमिकों को उनके-उनके गंतव्य को भेजे जाने हेतु बसों को रवाना जाने का कार्य शुरू कर दिया गया था, जो सायं तक अनवरत चलता रहा, जबकि मदर लैंड पब्लिक स्कूल डिस्पैच सेंटर पर शुक्रवार को थाना कासगंज जनपद कासगंज से एक बस से 6, झांसी जनपद झांसी से 2 बसों से 41, मैनपुरी जनपद मैनपुरी से दो बसों से 46, प्रयागराज जनपद प्रयागराज से 2 वर्षों से 24, इटावा जनपद इटावा से 1 बस से 17, वाराणसी के थाना सिगरा से 1 बस से 45, मिर्जामुराद से 2 बस से 41, लंका से एक बस से 9, रामनगर से एक बस से 30 तथा थाना मंडुआडीह से एक बस से 10 सहित कुल 14 बस से 269 प्रवासी कामगारों को मदर लैंड पब्लिक स्कूल राजातालाब के डिस्पैच सेंटर पर पहुंचाया गया। जहां से प्रवासी कामगारों को उनके-उनके घरों के लिए जनपदों को बसों से रवाना किया गया।

प्रवासी श्रमिकों के लिए जनपद की गाजीपुर मार्ग संदहा के गोपाल मण्डपम में बनाए गए डिस्पैच सेंटर से 14 बसों से कुल 271 प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक रवाना किया गया। यहां से गाजीपुर के लिए 45, कैंट स्टेशन के लिए 27, मऊ के लिए दो, आजमगढ़ के लिए पांच, जौनपुर एवं शाहगंज के लिए 3, सोनभद्र के लिए 18 तथा बिहार बॉर्डर के लिए 171 प्रवासी कामगारों को बसों के माध्यम से उनके गंतव्य तक रवाना किया गया। इस दौरान डिस्पैच सेंटर पर प्रवासी श्रमिकों के खानपान सहित बैठने आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराया गया है। इतना ही नहीं छोटे-छोटे बच्चों के लिए चॉकलेट एवं कोल्ड ड्रिंक के साथ ही भीषण गर्मी के दृष्टिगत रखते हुए रास्ते के लिए उन लोगों को बोतल के पानी आदि भी रवाना होने से पूर्व उपलब्ध कराया गया।

विज्ञापन