2014 में रामनगर राजकीय बाल सुधार गृह से फरार हुआ था भदोही में मारा गया अपराधी

Advertisements

वाराणसी। भदोही पुलिस ने देर रात 50 हज़ार के इनामिया दीपक गुप्ता को ढ़ेर कर दिया। जुर्म के दलदल में साल 2010 में पांव रखने वाला दीपक गुप्ता साल 2014 से वाराणसी बाल सुधार गृह से फरार था। वाराणसी के कैंट जीआरपी थाने में खिलाफ चार मुकदमे भी दर्ज है, जिसमे गैंगेस्टर एक्ट में भी मुकदमा दर्ज है।

भदोही क्राइम ब्रांच प्रभारी अजय सिंह और सुरियावां थाना प्रभारी विजय प्रताप सिंह की संयुक्त टीम ने बीती देर रात सुरियावां थाना क्षेत्र के चकिया गांव के पास हुई मुठभेड़ में 2014 में वाराणसी जेल से फरार 50 हजार के इनामी बदमाश दीपक गुप्ता को मार गिराया,मुठभेड़ में अजय सिंह के भी पैर में गोली लगी है और कांस्टेबल सचिन झा के बुलेटप्रूफ जैकेट पर भी बदमाश की गोली लगी।

मारे गए अपराधी पर वाराणसी के जीआरपी थाने में मुकदमा अपराध संख्या 165 /10 की धारा 394/411 आईपीसी के अंतर्गत, मुकदमा अपराध संख्या 1795/10 की धारा 8 /12/22 एनडीपीसी ऐक्ट के अंतर्गत, मुकदमा अपराध संख्या 2473/10 की धारा 3 (1) यूपी गैंगेस्टर एक्ट के अंतर्गत और मुकदमा अपराध संख्या 311/12 की धारा 110 G सीआरपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज है।

इसके अलावा साल 2014 में वाराणसी के रामनगर स्थित राजकीय संप्रेक्षण गृह/बाल सुधार गृह से फरार हुए दीपक गुप्ता पर रामनगर थाने में मुकदमा अपराध संख्या 138/14 की धारा 223/ 224 पंजीकृत है।

रामनगर बाल सुधार गृह से फरार होने के बाद दीपक पर भदोहीं जनपद में एक और अम्बेडकरनगर जनपद में दो मुकदमें दर्ज हुआ हैं जिसमे एक गुंडा नियंत्रण अधिनियम और एक हत्या के प्रयास का भी मुकदमा दर्ज है।