विज्ञापन

वाराणसी। कोरोना वायरस के संकट काल में डॉक्टरों, पुलिसकर्मियों के साथ स्वच्छताकर्मियों ने भी जीस प्रकार अपना कर्तव्य निभाया है वह सच में काबिले तारीफ है। प्रातः 5 बजे से लेकर रात 12 बजे तक ये कोरोना योद्धा पूरे शहर के साफ-सफाई में लगे रहते हैं। स्वच्छताकर्मियों के इसी निष्ठा को देखते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद काशी महानगर ने इनका सम्मान करने का निर्णय लिया।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा थाना चौक क्षेत्र पर स्वच्छताकर्मियों का माला और अंगवस्त्र पहनाकर सम्मान किया गया। इसके अलावा एबीवीपी सदस्यों ने स्वछता कर्मियों को अंगवस्त्र, सैनिटाइजर, मास्क, खाद्य सामग्री का भी वितरण किया।

स्वच्छताकर्मियों के सम्मान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हेमंत शुक्ला ने कहा कि विद्यार्थी परिषद केवल छात्रों के बीच ही कार्य नहीं करता बल्कि जब-जब देश पर आपदा आई है विद्यार्थी परिषद ने बढ़-चढ़कर सहयोग किया है। स्वच्छताकर्मी वास्तव में सम्मान के योग्य हैं, पूरे देश को इन पर गर्व होना चाहिए।

प्रदेश सहमंत्री शुभम सेठ ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री का संदेश है कि सबका साथ और सबका विकास होना चाहिए। विद्यार्थी परिषद हर वर्ग हर समाज को लेकर देश के लिए कार्य करता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से कुश अग्रहरी, पंकज गुप्ता, अजय शर्मा, अमित पटेल, शरद गुप्ता, दिलीप केशरी अभिषेक मिश्रा, प्रभात विश्वकर्मा, अरुण चौबे, विनय साहू, सचिन सिंह, रविशंकर पटेल, विभूति मिश्रा, सन्तोष मिश्रा आदि उपस्थित रहें।

विज्ञापन