सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन में कोरोना काल मे सकुशल सम्पन्न हुई बक़रीद की नमाज़

Advertisements

वाराणसी । कोरोना काल मे पड़े बक़रीद पर्व पर शहर में सन्नाटा रहा। इबदतगुज़ारों से लबरेज़ रहने वाली मस्जिदों में महामारी एक्ट अनुपालन में सिर्फ पांच लोगों ने बक़रीद की नामज़ अदा की । कुर्बानी के इस पर्व पर पूरे जनपद में सार्वजनिक कुर्बानी पर रोक रही।

मुल्क से कोरोना महामारी के खात्मे और मिल्लत और शांति की दुआ के साथ शहर की प्रमुख मस्जिदों में बक़रीद की नामज़ सकुशल सम्पन्न हुई। शहर के नई सड़क स्थित लंगड़ा हाफ़िज़ मस्जिद, सिगरा विद्यापीठ के पास स्थित शाही ईदगाह, मदनपुरा, भेलूपुर, बजरडीहा, शिवाला, गौरीगंज, दोशीपुरा, बड़ी बाज़ार, चौक, दालमंडी, बेनियाबाग, हड़हासराय, चौहट्टा, मुकीमगंज, नदेसर, अर्दली बाज़ार स्थित मुस्लिम इलाकों में बक़रीद की नामज़ अदा की गई।

इस दौरान शहर में सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम किये गए थे । एसपी सिटी विकास चन्द्र त्रिपाठी और एडीएम सिटी गुलाबचंद पूरे शहर में भ्रमणशील रहे। वहीं डीएम कौशल राज शर्मा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक के साथ ईद उल जुहा पर्व के दृष्टिगत शहर के नदेसर, लहुराबीर, कोतवाली, नई सड़क, गोदौलिया, मदनपुरा, सोनारपुरा, रेवड़ी तालाब, लाट भैरव, भेलूपुर, सिगरा, फातमान रोड, तेलियाबाग, चौकाघाट, मकबूल आलम रोड सहित विभिन्न क्षेत्रों में चक्रमण कर स्थिति का जायजा लिया।

बाता दें कि इस वर्ष जैतपुरा थानान्तर्गत होने वाली प्रसिद्ध ऊंट की कुर्बानी जो कि सार्वजनिक स्थल पर की जाती थी उसे महामारी एक्ट की गाइडलाइन के अनुसार प्रतिबन्धित किया गया है।

Advertisements