बीएचयू ने की प्रोफ़ेसर चौबे की छुट्टी, समय से पहले कि‍ये गये रि‍टायर

वाराणसी। एजुकेशन ट्रिप पर बीएचयू की जंतु विज्ञान की छात्राओं पर अश्लील टिप्पणी करने वाले प्रोफ़ेसर शैल कुमार चौबे को विश्वविद्यालय प्रशासन ने जांच के बाद सेवनिवृत्ति की संस्तुति कर दी है। शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित इण्डिया इंटरनेशनल सेंटर में कुलपति आर के भटनागर की अध्यक्षता में हुई बीएचयू की कार्यकारिणी परिषद् की बैठक में यह फैसला सर्वसम्मति से लिया गया है।

बता दें की जून 2018 में छात्रों की शिकायत के बाद इस वर्ष दोबारा प्रोफ़ेसर शैल कुमार चौबे को बीएचयू प्रशासन ने विभाग में चेतावनी देने के बाद पढ़ाने के लिए वापस बुला लिया था, जिसका छात्राओं ने वि‍रोध करते हुए दो दिन तक सिंह द्वार पर धरना-प्रदर्शन किया था और प्रोफ़ेसर चौबे की बर्खास्तगी की मांग की थी।

विज्ञापन

इस विरोध प्रदर्शन के बाद प्रोफ़ेसर चौबे को एकबार फिर अवकाश पर भेज दिया गया था। इसके बाद शिकायत पर विश्वविद्यालय की आंतरिक शिकायत समिति ने प्रोफ़ेसर चौबे को दोषी पाया था। समिति ने सख्त करवाई की संस्तुति की थी।

दिल्ली में कल हुई कार्यकारिणी परिषद् की बैठक में अध्यक्ष कुलपति आर के भटनागर की अध्यक्षता में मौजूद सचिव डॉ नीरज त्रिपाठी, वित्ताधिकारी अभय कुमार ठाकुर समेत परिषद् के सभी सदस्य मौजूद रहे।

Loading...