Corona Antigen Test
विज्ञापन

वाराणसी। बढ़ते कोरोना पॉज़िटिव केस को देखते हुए प्रदेश सरकार ने एंटीजन टेस्‍ट शुरू कराया है। इसी क्रम में वाराणसी में एंटीजन टेस्‍ट से 12 नये कोरोना पॉजि‍टि‍व केस सामने आये हैं। बताया जा रहा है कि ये सभी पॉज़िटिव मरीज़ भिखारीपुर स्थित एक हॉस्पिटल में पाए गए हैं और उसे सील कर दिया गया।

इस सम्बन्ध में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ वीबी सिंह की तरफ से जारी आधि‍कारि‍क बयान के अनुसार वाराणसी में मंगलवार 30 जून को एन्टीजन टेस्ट में 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं।

इसके अलावा आज एक मरीज की मौत हुई है। मृतक मरीज बिहार का रहने वाला था और बनारस में इलाज करवा रहा था।

इसके साथ ही जि‍ले में कुल कोरोना पॉज़िटिव की संख्या 487 हो गयी है। इनमें से 279 मरीज ठीक भी हो चुके हैं, जबकि‍ अबतक 18 लोगों की मौत हो चुकी है। वाराणसी में इस समय 189 कोरोना पॉजि‍टि‍व केस एक्‍टि‍व हैं।

यह भी पढ़ें : वाराणसी : एंटीजन डिटेक्शन किट से कोरोना संक्रमण की जांच प्रारंभ, 30 मिनट में देगा रिजल्ट

बता दें कि‍ इंडि‍यन काउंसि‍ल ऑफ मेडिकल रि‍सर्च (ICMR) ने इस एंटीजन टेस्‍ट तकनीक को केवल कंटेनमेंट जोन और अस्पताल या क्वॉरेंटाइन सेंटर में इस्तेमाल करने की इजाजत दी है। फि‍लहाल कोई नया हॉटस्‍पॉट नहीं बनाया गया है।

इस तकनीक में व्यक्ति की नाक की दोनों तरफ़ से फ्लूइड का सैंपल लिया जाता है। फिर उसको पास ही मौजूद एक मोबाइल वैन के अंदर बनी छोटी से लेबोरेटरी के अंदर टेस्ट किया जाता है। अगर टेस्टिंग स्ट्रिप पर एक लाइन आती है तो इसका मतलब रि‍पोर्ट नेगेटिव होता है, लेकिन उसको पुख्ता तौर पर नेगेटिव नहीं माना जा सकता और कन्फर्म करने के लिए RT PCR टेस्ट ज़रूरी होता है।

अगर दो लाल लकीर दिखाई देती हैं तो इसका मतलब व्यक्ति पॉजिटिव है, जिसको पुख्ता तौर पर पॉजिटिव मान लिया जाएगा। लेकिन अगर कोई लकीर नहीं दि‍खती है तो इसका मतलब टेस्ट बेनतीजा है। इस तकनीक में टेस्ट का नतीजा 15 से 30 मिनट के अंदर आ जाता है। इस तकनीक को साउथ कोरिया की कंपनी ने तैयार किया है।

विज्ञापन