सुंदरपुर प्रकरण में भाजपा काशी क्षेत्र अध्यक्ष का बयान- छोटी सी बात को बनाया गया बड़ा, कार्यकर्ता निर्दोष

Advertisements

वाराणसी। लंका थाना क्षेत्र के सुंदरपुर इलाके में बीते शुक्रवार को पुलिसकर्मियों और भाजपा नेता में हुई झड़प और कौलर खीचा तानी का वाद गरम होता जा रहा है। शनिवार को अदालत में हुई इस सुनवाई में पुलिस को कई गंभीर धाराओं को वापस लेना पड़ा था और वरिष्ठ अधिकारियों ने पूरे घटना की जांच के लिए मजिस्ट्रियल आदेश दे दिया था। अब इस पूरे मामले में भाजपा काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव का बयान सामने आया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि इसमें भाजपा कार्यकर्ता का कोई दोष नहीं है, औऱ इस घटना को गलती से बड़ा बना दिया गया है।

काशी क्षेत्र अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं या नेताओं का यह स्वभाव ही नहीं है कि शासन या प्रशासन के काम में किसी प्रकार का कोई हस्तक्षेप किया जाये। उन्होंने कहा एक कार्यकर्ता के साथ अन्याय हुआ, बिना बात पर उसपर गंभीर आरोप लगाया गया। वह हमारा कार्यकर्ता हो या कोई भी सामान्य नागरिक अगर किसी के साथ भी अन्याय होगा तो हम सब आगे आकर बोलेंगे।

उन्होंने कहा सुंदरपुर में हुए घटना पर प्रशासन के साथ हम सब की बैठक हुई, जिसमें डीएम कौशल राज शर्मा ने एक न्यायिक जांच की घोषणा की। उसमें यह निर्णय लिया गया कि चार पुलिसकर्मी दोषी थें जिसमें एसओ लंका, एसआई चौकी इंचार्च सुंदरपुर औऱ दो सिपाही को प्रशासन ने संज्ञान में लेकर सस्पेंड किया।

उन्होंने कहा कि छोटे से मामले को काफी बड़ा रुप दे दिया गया था, जिसकी कोई आवश्यक्ता नहीं थी। यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। उन्होंने सस्पेंड हुए अफसरों पर कहा कभी कभी ऐसी गलतियां हो जाती हैं, जिसके फलस्वरुप प्रशासन ने उन्हें दण्डित किया है। जो गलत करेगा वह दण्डित होगा, चाहे वह हमारे पार्टी का कार्यकर्ता ही क्यों न हो। उन्होंने कहा अगर मेरे कार्यकर्ता की गलती होती तो मैं उसका पक्ष कभी नहीं लेता, लेकिन हमारे सब कार्यकर्ता अनुशासन में रहना जानते हैं। हमारे पीएम मोदी और सीएम योगी की तरह हम सब भी अनुशासन प्रिय हैं और यह हमारे जीवन का अंग है।

देखें वीडियो