झुनझुनवाला के आवास और फैक्ट्री पर धमकी सीबीआई, ज़रूरी कागज़ात ज़ब्त

वाराणसी। नेशनल कम्पनी लॉ ट्रिब्यूनल के द्वारा दो हज़ार करोड़ के दिवालिया जेवीएल एग्रो इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के सीएमडी दीनानाथ झुनझुनवाला के आवास और फैक्ट्री पर बुधवार को सीबीआई ने छापेमारी की। इस दौरान आशापुर फैक्ट्री और नाटी इमली आवाज़ पर सन्नाटा पसरा रहा। घंटों चली छानबीन में सीबीआई के अधिकारियों ने कई ज़रूरी कागज़ात ज़ब्त किये और वापस चली गयी। सीबीआई ने यह छापा अलग-अलग बैंकों से लिए गए करीब दो हज़ार करोड़ रूपये के क़र्ज़ और रकम के इस्तेमाल से जुड़े कागज़ात ज़ब्त किये हैं।

नेशनल कम्पनी लॉ ट्रिब्यूनल के द्वारा दो हज़ार करोड़ के दिवालिया जेवीएल एग्रो इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड को एक साल पहले ही दिवालिया घोषित किया था। कंपनी के नाम से दीनानाथ झुनझुनवाला ने अलग-अलग बैंकों से एक हज़ार करोड़ से अधिक का लोन लिया और उन्हें अलग अलग मदों में खर्च किया पर उन्होंने ऋण चुकाया नहीं।

विज्ञापन

इसपर बैंको ने दीनानाथ झुनझुनवाला और उनके जमानतदार सत्यनारायण झुनझुनवाला, आदर्श झुनझुनवाला, अंजू झुनझुनवाला व झुनझुनवाला गैसेस प्राइवेट लिमिटेड को नोटिस जारी कर नाटी इमली के 6600 वर्ग फिट वाले आवास को टेकओवर किया था।

झुनझुनवाला ने पंजाबा नेशनल बैंक से 519 करोड़, बैंक ऑफ़ बड़ौदा से 485 करोड़ सहित अन्य बैंकों से भी लोन लिया था। इस मामले में सीबीआई बैंक कर्मियों से भी पूछताछ कर सकती हैं।

Loading...