विज्ञापन

वाराणसी। वैश्विक स्तर पर महामारी घोषित हुए नोवेल कोरोना वायरस के चलते शहर के सभी देवालयों को बंद किया जा रहा है। इसी क्रम में श्री संकटमोचन मंदिर, श्री अन्नपूर्णा मंदिर और बाबा काल भैरव मंदिर को भी श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है। शनिवार को हजारों की तादाद में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए महंत प्रोफेसर विश्वम्भरनाथ मिश्र ने प्रेसवार्ता करके यह घोषणा किया है कि आगामी 25 मार्च तक मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बन्द कर दिया गया है।

विज्ञापन

संकट मोचन के महंत प्रोफेसर विश्वम्भरनाथ ने बताया कि मंदिर 25 मार्च तक आम श्रद्धालुओं के लिए बन्द कर दिया गया है। इस दौरान भगवान की भोगआरती और सेवा यथावत चलती रहेगी। जिला प्रशासन से बात करने के बाद ही आगे कोई निर्णय लिया जाएगा।

विज्ञापन

श्री अन्नपूर्णा मंदिर 24 मार्च तक बंद

विज्ञापन

श्री अन्नपूर्णा मंदिर में भी महाप्रसाद और दर्शन के लिए हर रोज श्रद्धालुओं की भारी भीड़ को देखते हुए मंदिर को 24 मार्च तक के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान मंदिर में श्रद्धालुओं को महाप्रसाद का भी वितरण नहीं किया जाएगा।

विज्ञापन

बाबा काल भैरव मंदिर अनिश्चित काल तक के लिए हुआ बंद

बाबा काल भैरव मंदिर के महंतों ने भी कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए मंदिर को अनिश्चित काल तक बंद करने का निर्णय लिया है। रविवार को बाबा काल भैरव के दर्शन के लिए मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है, जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। मंदिर प्रशासन ने इसे देखते हुए यह फैसला लिया है।

विज्ञापन