विज्ञापन

वाराणसी। कोरोना वायरस से इस वक्त पूरे देश की रक्षा करने में सफाईकर्मियों का भी महत्वपूर्ण योगदान है। जब सभी लोग लॉकडाउन में घर में बैठे हैं, तो ये सफाईकर्मी दिन रात लगकर शहर को पूरी तरह स्वच्छ और साफ रख रहे हैं, ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके, लेकिन वाराणसी में सफाईकर्मियों का आरोप है कि नगर निगम के कुछ आला अधिकारी इन सफाई कर्मियों की जरुरत की मांगों को सुन नहीं रहे और मांग करने पर इन्हें नौकरी से निकालने की भी धमकी दी जा रही है।

कोरोना जैसी गंभीर महामारी में दिन-रात काम करने वाले सफाई कर्मचारियों ने नगर निगम के अधिकारी पर आरोप लगाया है कि सफाई के दौरान ग्लब्स और सेनिटाईजर की मांग करने पर उन्हे अधिकारी ने नौकरी से निकालने की धमकी दी और मारपीट तक किया। इससे परेशान कर्मचारियों ने नगर निगम परिवहन कार्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया और बद्सलूकी करने वाले परिवहन इंस्पेक्टर को बर्खास्त करने की मांग भी किया।

सफाईकर्मी महताब आलम ने इंस्पेक्टर विजय नंद त्रिवेदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि हम सभी कर्मचारी जब भी ग्लब्स, वर्दी या सेनिटाइजर की मांग करते हैं तो उच्च अधिकारी गाली गलौज से बात करने लगते हैं और नौकरो से निकालने की धमकी भी देने लगते हैं।

कर्मचारियों ने मांग की है कि इस दुर्व्यवहार के कारण हम ज्यादा दिन कार्य नहीं कर पाएंगे। हमसे बदसलूकी करने वाले इंस्पेक्टर को तत्काल बर्खास्त किया जाए।

विज्ञापन