विज्ञापन

वाराणसी। देश में लॉकडाउन लगने से तो सभी परेशान ही हैं। प्रेमी युगलों के लिए भी दो महीनों से चल रहा यह लॉकडाउन किसी वनवास से कम नहीं। रामनगर थानान्तर्गत विश्व सुन्दरी पुल से शनिवार को एक ऐसी ही प्रेमी युगल ने जान देने की नीयत से छलांग लगा दिया। युवती को तो मल्लाहों ने बचा कर बाहर निकाल लिया पर युवक का पता उस वक्त पता नहीं चला काफी खोज-बीन के बाद करीब 4 बजे युवक का शव मिला।

जानकारी के अनुसार मंडुआडीह के शिवदासपुर के रहने वाले सुजीत प्रजापति और पड़ोस की चांदनी बिंद का कई दिनों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। शुक्रवार को चांदनी के छोटे भाई ने फोन पर बात करते देख उसे घर वालों से डांट खिलवा दी थी। इसके बाद अपराह्न तीन बजे चांदनी और सुजीत घर से निकल भागे।

शनिवार की सुबह 11 बजे दोनों रामनगर पुल पर पहुँचे। बाइक खड़ी कर के दोनों ने पहले जहर की शीशी खोल कर आधा आधा पिया। उसके बाद एक दूसरे का हाथ पकड़ कर गंगा में कूद गये। घाट किनारे मौजूद नाविकों की नजर जब युवती पर पड़ी तो उन्होंने उसे बाहर निकाला लेकिन युवक का काफी तलाश के बाद भी कुछ पता नही चल सका। करीब 4 बजे शाम में काफी खोजने के बाद युवक का शव गंगा से निकाल लिया गया।

युवती को शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां होश में आने के बाद उसने बताया कि घर वाले शादी के लिए तैयार नहीं हो रहे थे इसलिए ऐसा कदम उठाया। उसे बाद में मंडलीय अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। चांदनी दो बहन और एक भाई तथा सुजीत छह भाइयों में चौथे नंबर पर था। चांदनी के पिता मान सिंह ट्राली चलाते है।

विज्ञापन