DM Kaushal Raj Sharma
विज्ञापन

वाराणसी। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस अब वाराणसी में अपने पाँव पसार चुकी है। दो दिन में लगातार 20 से अधिक कोविड-19 संक्रमित लोग मिले हैं। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने कई अहम् फैसले लिए हैं। इसी क्रम में कोविड-19 के अन्तर्गत आगामी 5 से 15 जुलाई की अवधि में जनपद में घर-घर संवेदीकरण तथा सर्वेक्षण अभियान संचालित किये जाने का जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने आदेश दिया है। यह अभियान प्लस पोलियो अभियान की तर्ज पर चलाया जाएगा।

इस अभियान में 2 सदस्यीय टीम द्वारा घर-घर सम्पर्क किया जायेगा। घर-घर सम्पर्क के दौरान टीम के सदस्यों द्वारा कोविड-19 के अन्तर्गत बरती जाने वाली सावधानियों यथा-मास्क, हैण्ड सेनेटाइजर इत्यादि का प्रयोग करने तथा 02 गज की दूरी के नियम की जानकारी दी जायेगी।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य प्रत्येक घर का सर्वे करते हुये कोरोना से मिलते जुलते लक्षणों जिसे इन्फ्लूयेन्जा लाईक इन्लेस (आईएलआई) भी कहते है यथा बुखार, खॉसी, सॉस लेने में तकलीफ के मरीजो, एकाएक रूप से सॉस लेने में गम्भीर तकलीफ के मरीजों, (सारी) लम्बी एवं गम्भीर बीमारी जैसे डायबिटीज, हाइपरटेन्शन, हृदय रोग, किडनी, लीवर एवं फेफड़े इत्यादि महत्वपूर्ण अंगों की गम्भीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, कैंसर पीडि़त व्यक्ति तथा 14 दिनों के अन्दर किसी पाजीटिव मरीज के सम्पर्क में आने वाले व्यक्ति की पहचान करना तथा आवश्यकतानुसार उनका सैम्पलिंग करना है, साथ ही साथ प्रत्येक घर के सदस्यों को कोविड-19 से बचने वाली सावधानियों को बताना एवं उसके प्रति जागरूक करना है।

इस अभियान के सफल संचालन में नगर निगम, नगर पंचायते, अन्य स्थानीय नगरीय निकाय, पंचातयत विभाग द्वारा भी सहयोग दिया जायेगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा वीबी सिंह ने बताया कि इस अभियान के सफल संचालन हेतु सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर माइक्रोप्लान सहित अन्य तैयारियॉ शीघ्र ही पूरी कर ली जायेंगी। अभियान की अवधि में प्रतिदिन सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा जनपद स्तर पर सायंकालीन बैठकों का आयोजन कर प्रतिदिन के कार्य से सम्बन्धित सूचनाओं को पोर्टल पर अपलोड किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि अभियान के पर्यवेक्षण हेतु 5 टीमों के उपर 1 पर्यवेक्षक तथा ग्रामीण क्षेत्र मे ब्लाक स्तर पर एवं शहरी क्षेत्र में बनाये गये जोन स्तर पर नोडल अधिकारी तैनात किये जायेंगे। उन्होने कहा कि अभियान से प्राप्त दैनिक सूचनाएं कोविड महामारी को रोकने की दिशा में महत्वपूर्ण एवं उपयोगी होंगी। इन सूचनाओं का उपयोग कर के कोविड संक्रमित व्यक्तियों की तत्काल पहचान किया जा सकेगा ताकि उन्हें त्वरित उपचार प्रदान किया जा सके साथ ही साथ कोविड-19 के प्रति समुचित जानकारी एवं जागरूकता में भी वृद्धि होगी।

विज्ञापन