विज्ञापन

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी हर दिन प्रवासी मजदूरों के लिए बनाये गए विश्राम स्थल व रवानगी स्थलों का निरीक्षण कर रहे हैं। शासन द्वारा यह आदेश भी दिया गया है कि कोई भी मजदूर या श्रमिक रास्ते में पैदल चलता न दिखे, जिसके बाद जिला प्रशासन और मुस्तैद हो गई है।

जनपद से प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य की जनपदों में भेजे जाने की व्यवस्था का जायजा लेने मंगलवार को जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी मोहन सराय स्थित मदर लैंड पब्लिक स्कूल, जगतपुर इंटर कॉलेज, टेंगरा टोल प्लाजा सहित स्थानों पर भ्रमण कर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

प्रवासियों के खान-पान से लेकर पानी की व्यवस्था सुनिश्चित कराया जाए-
जिलधिकारी ने मौके पर अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि किसी भी प्रवासी श्रमिक को डिस्पैच सेंटर पर अपने-अपने गंतव्य को रवाना होने से पूर्व किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए। प्रवासी श्रमिकों के खानपान, रहने के साथ-साथ पीने का पानी और बच्चों को बिस्किट आदि की उपलब्धता सुनिश्चित कराया जाए। डिस्पैच सेन्टरों पर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने पर भी उन्होंने विशेष जोर दिया।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी के साथ जगतपुर इंटर कालेज के मैदान में प्रवासियों को प्रदेश के अन्य जिलों में छोड़ने के लिए खड़ी की गयी अधिग्रहित बसों की व्यवस्था देखने पहुंचे और पूछताछ की। एआरटीओ प्रशासन द्वारा बताया गया कि 57 बसें रखी गयी हैं, जिन्हें आवश्यकता अनुसार डिस्पैच सेंटर के लिए भेजा जा रहा है। इसके पश्चात् जिलाधिकारी वीरभानपुर, राजातालाब स्थित डिस्पैच सेन्टर की व्यवस्था देखने पहुंचे और मौके पर एसडीएम राजातालाब से प्रवासियों को भेजने के बारे में जानकारी ली तथा उन्हें भोजन, बिस्कुट, पानी आदि वितरित किए।

एसडीएम राजातालाब द्वारा बताया गया कि कुछ स्वयंसेवी संस्थाएं भी खाद्य सामग्री व पीने का पानी की व्यवस्था की गयी है। यहां पर नागरिक सुरक्षा के आठ-आठ वालंटियर तीन शिफ्टों में ड्यूटी करते हुए बसों में बैठाने से लेकर खाद्य सामग्री वितरित किए जाने की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। डिस्पैच सेंटर पर लगातार लाउडस्पीकर से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने सहित विभिन्न जनपदों को जाने वाली बसों की जानकारी भी दी जा रही है। निरीक्षण के समय तक 30 बसों के द्वारा प्रवासियों को विभिन्न प्रदेशों व अन्य जनपदों को भेजा जा चुका था।

जिलाधिकारी ने टेंगरा मोड़ बाईपास से पहले पड़ने वाले टोल प्लाजा पर पहुंच कर प्रवासियों को लेकर मिर्जापुर की ओर जाने और उधर से आने वाली बसों से टोल टैक्स न वसूलने की मैनेजर को हिदायत दी।

एसपी ट्रैफिक को दिया यह निर्देश-
एसपी ट्रफिक ने बताया कि टोल प्लाज़ा पर स्टाफ की कमी के कारण ट्रकों को रोक-रोक कर छोड़ा जा रहा है। इतना सुनते ही जिलाधिकारी ने एसपी ट्रैफिक को निर्देशित किया कि तत्काल इसकी रिपोर्ट तैयार कर उपलब्ध करायें और यदि इनके द्वारा स्टाफ बढ़ा कर यातायात सुचारू नहीं किया जाता, तो आज रात 12 बजे से गाड़ियों का आवागमन नि:शुल्क कर दिया जायेगा।

कैंट स्टेशन का किया निरीक्षण-
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कैंट रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के अधिक संख्या में आने तथा प्रवासियों को गन्तव्य तक भेजे जाने को लेकर रेलवे, परिवहन, चिकित्सा,राजस्व, पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की।

उन्होंने ट्रेन से उतरने वाले प्रवासियों की स्क्रीनिंग व रजिस्ट्रेशन कराकर बसों में बैठाने की व्यवस्था के साथ-साथ उनको देने वाले पैकेट में सूखी खाद्य सामग्री लाई, चना, बिस्कुट रखे पैकेट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कैंट स्टेशन पर बनाये गये खाद्य सामग्री स्टोर का निरीक्षण भी किया।

विज्ञापन