वाराणसी ईएसआईसी अस्पताल में मरीज़ की मौत से परिजन हुए आक्रोशित, जमकर हंगामा

विज्ञापन

वाराणसी। जिला चिकित्सालय के पास स्थित राज्य कर्मचारी बीमा निगम अस्पताल (ईएसआईसी) में आज सुबह मरीज़ की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। परिजनों का आरोप है कि डाक्टरों की लापरवाही की वजह से उनके मरीज़ की मौत हुई है। मृतक अपने पीछे चार बेटियां छोड़ गये हैं।

शिवपुर कठवतिया निवासी लाल बहादुर पटेल (55) की मौत के बाद आक्रोशित परिजन चक्काजाम कर अस्पताल के डाक्टरों का लाइसेंस निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने परिजनों से वार्ता कर किसी प्रकार जाम खुलवाया।

भतीजे ने बतायी लापरवाही की दास्‍तां
इस सम्बन्ध में मृतक के भतीजे रंजीत बहादुर ने बताया कि मेरे बड़े पिता जी लाल बहादुर जीवनदीप स्कूल में बस ड्राइवर थे। उनके दाहिने पैर के घुटने में 20 तारीख को तकलीफ हुई तो हम लोग उन्हें राज्य कर्मचारी बीमा निगम हॉस्पिटल में इलाज के लिए लाये थे। यहां एडमिट करने के बाद डाक्टरों ने उन्हें इंजेक्शन दिया और कुछ दवाएं दीं। पर फिर भी दर्द नहीं गया तो एक्सरे की फाईल बनाने की बात हुई। तीन घंटे में एक्सरे के लिए फ़ाइल बनी और कहा गया कि कोई नीचे से आएगा तो फ़ाइल आप के पास जाएगी। नीचे से कोई आया ही नहीं पूरा दिन निकल गया।

नहीं मिली आजतक एक्‍सरे रिपोर्ट
रंजीत ने बताया कि जब तीन बज गया तो हमने कहा कि आप हमें दीजिये फाईल हम लेकर जायेंगे। वहां लेकर गए तो बोला रिपोर्ट कल मिलेगी। अगले दिन हम रिपोर्ट लिए तो 11 बजे रिपोर्ट मिली। वहां से फिर हम लोग एक्सरे करवाने गए। एक्सरे की रिपोर्ट आज तक हम लोगों को नहीं मिली है। इसके अलावा हमारी एक बाहर की भी जांच लिखी थी। हम बड़े पिता जी को लेकर बाहर गए यहां की एम्बुलेंस से और वो हमें वहीँ छोड़कर चला आया, जिस नंबर पर उसे काल कर रहे थे लेकिन उसने काल नहीं उठाई। फिर रात में 8 बजे हम रिपोर्ट लाये लेकिन प्लास्टर नहीं हुआ।

मोबाइल पर चैट करता रहा हास्‍पिटल स्‍टाफ
रंजीत ने आरोप लगाया कि डाक्टरों ने लापरवाही करते हुए प्लास्टर नहीं लगाया। बोले अगले दिन सुबह होगा प्लास्टर। आज सुबह उनकी तबियत खराब हुई तो हम डॉक्टरों के पास गए तो कोई मोबाइल में चैट कर रहा था, कोई बात कर रहा था कोई आया नहीं और वो मर गए। रंजीत ने बताया कि आज तक हमें ब्लड, शुगर कोई रिपोर्ट नहीं मिली। इसके अलावा बीपी चेक करने वाली मशीन में बैटरी तक नहीं रहती यहाँ।

परिजनों ने किया चक्‍काजाम, इंस्‍पेक्‍टर ने मनाया
इसके बाद परिजनों ने राज्य कर्मचारी बीमा निगम हॉस्पिटल में डॉक्टर और स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सड़क पर चक्काजाम कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे कैंट इंस्‍पेक्‍टर अश्‍विनी चतुर्वेदी ने काफी देरतक परिजनों को समझा बुझाकर जाम समाप्‍त कराया। फिलहाल मौत से आक्रोशित परिजनों ने मुआवज़े की मांग की है।

Loading...