विज्ञापन

वाराणसी। कैन्ट पुलिस ने 3 सितंबर 2019 को लालपुर के मढ़वा में हुई चर्चित दिव्यांग पान विक्रेता के हत्या के मामले में सभी 10 आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इसमे शातिर झुन्‍ना पंडित व रवि पटेल समेत 9 जेल में हैं, जबकि झुन्‍ना की मां जमानत पर बाहर हैं।

कैन्ट प्रभारी निरीक्षक अश्वनी चतुर्वेदी की तहरीर सभी के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कैन्ट थाने में मुकदमा दर्ज किया गया।

ज्ञात हो कि 3 सितंबर को मढ़वा दिव्यांग पान विक्रेता दिलीप पटेल की ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या के चर्चित मामले में मृतक के भाई प्रदीप पटेल की तहरीर पर झुन्‍ना रवि समेत दर्जनों के खिलाफ हत्या समेत अन्य गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। उक्त हत्या से पहले पूर्व प्रधान राजेश पटेल के अपहरण कर मारने पीटने के मामले में भी वांछित रहा इसी मामले में प्रदीप पटेल की गवाही से नाराज झुन्‍ना ने उक्त घटना को अंजाम दिया था।

उसके अन्य साथियों की गिरफ्तारी वाराणसी व यूपी के अन्य जिलों से हुई थी, जबकि झुन्‍ना को नाटकीय ढंग से महीनों बाद पंजाब पुलिस ने 11 अक्टूबर वर्ष 2019 में गांव काहनपुर खुही के पास पंजाब हिमाचल सरहद पर हुई मुठभेड़ में दबोचा गया था।

उसके कब्जे से 32 बोर के दो पिस्तौल व आठ कारतूस भी बरामद हुए हैं। तभी से सभी जेल में निरुद्ध है। इसमें उसके परिजनों के खिलाफ भी 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया था। उसमें उसकी माँ उषा देवी फिलहाल जमानत पर है।

गैंगेस्टर के तहत हुई कार्रवाई में श्रीप्रकाश मिश्रा उर्फ़ झुन्ना पंडित, रवि पटेल, दीपक राजभर, नीरज उर्फ़ टुनटुन, शैलेश पटेल, संजय पटेल, नंदलाल मिश्रा, उषा देवी, ओम प्रकाश उर्फ़ सोनू, जय प्रकाश उर्फ़ मोनू शामिल है। उनके विरुद्ध उत्तर प्रदेश गिरोह बंद, समाज विरोधी निवारण अधिनियम 1986 की धारा 3 (1) के तहत प्रभारी निरीक्षक कैन्ट के द्वारा कार्रवाई की गयी है। तभी से सभी जेल में निरुद्ध है।

विज्ञापन