बेटियों ने निकाला मशाल जुलुस, कहा- दुष्कर्मियों के खिलाफ बने सख्त कानून

विज्ञापन

वाराणसी। लोक समिति, एशियन ब्रीज इंडिया, ग्राम्या संस्थान और ग्रामीण पुनर्निर्माण संस्थान सामाजिक संगठनों ने महिला अत्याचारों के खिलाफ बुधवार को मिर्जामुराद के बेनीपुर बाजार से लेकर मुबारकपुर के दुर्गा मंदिर तक मशाल जुलूस निकाला। लोगों का आरोप था कि ढीली कानून व्यवस्था के चलते महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहे है। इस मामले में केंद्र सरकार को सख्त कानून बनाना चाहिए और दुष्कर्मियों को कठोर से कठोर सजा देनी चाहिए।

मशाल जुलूस थामे लोग हैदराबाद की बेटी के हत्यारे को फांसी की सजा देने के लिए नारे लगाए। इस मौके पर लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा कि रेप कल्चर के खिलाफ देश में और सख्त कानून बनाया जाना चाहिए। ढीली कानून व्यवस्था के चलते अपराधियों का मनोबल बढ़ रहा है। उन्होंने देश में फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने की मांग की।

एक साथ अभियान की फौजिया अंजुम ने कहा कि इस मुद्दे पर धर्म से ऊपर उठकर सोचना होगा। उन्होंने दोषियों को सजा देने और पीड़ितों को न्याय देने की मांग की। उन्होंने दुष्कर्मियों को तत्काल फांसी की सजा देने की मांग की। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से देश शर्मसार हुआ है।

प्रदर्शन में नन्दलाल मास्टर, समाज सेवी विनोद कुमार, रंजीत बीडीसी, सरिता अनीता फौजिया अंजुम, आयशा, रामबचन, बेचू, यासमीन, सानिया, सबीना, साहिल, पंचमुखी, अजय, रिजवान, अब्दुल खालिक, महेश, गंगाजली, अनीता, मुन्नी, धनरा, सीता, सावित्री, सीता, गीता, मुहम्मद तालीम, सन्नो बेगम आदि लोग शामिल रहे।

Loading...