Kashi's Shubham Saroj selected in UP team (2)
विज्ञापन

वाराणसी। शहर बनारस में हुनरबाज़ों की कमी नहीं है। बस ज़रुरत है उन्हें मौक़ा देने की या उनके सतह अथक परिश्रम कर उन्हें नायाब बनाने की। ऐसा ही एक काशी से चमक कर बाहर निकला है, जिसका नाम शुभम सरोज है। उत्तर प्रदेश की नेशनल हैंडबाल प्रतियोगिता के लिए चुनी गयी टीम का हिस्सा बने शुभम किस्मत का सितारा उनकी मां ने दूसरों के घरों में बर्तन धुलकर चमकाया है।

शुभम सरोज मंगलवार को नेशनल हैंडबाल प्रतियोगिता में कानपुर के स्टेडियम में उत्तर प्रदेश की टीम से खेलेंगे। इस बात का पता जब मां किरण देवी को चला तो वह अपने ख़ुशी के आंसू नहीं रोक पायी।

छित्तूपुर का रहने वाला और काशी विद्यापीठ में बीए के छात्र शुभम के कोच बृजेश कुमार ने बताया कि शुभम के पालन पोषण का मां किरन देवी करती हैं। मां की मेहनत से प्रेरित शुभम को हाल ही में काशी विद्यापीठ में संपन्न हुई अंतर विश्वविद्यालयीय हैंडबाल प्रतियोगिता में बेस्ट खिलाड़ी के खिताब से सम्मानित भी किया था। किरन आस पास के घरों में चूल्हा चौका करके शुभम को पढ़ा रही है। उसकी सफलता पर वह कुछ बोल तो नहीं पायी बस उसकी आँख डबडबा गयीं।

शुभम अपने करियर में सैफई छात्रासवास में अपने खेल के दम पर चार सालों तक रहे और वहां उन्होंने हैंडबाल का ककहरा सीखा। विद्यापीठ में बेस्ट खिलाड़ी का आवार्ड मिलते ही शुभम की किस्मत का सितारा चमक गया और उनका सेलेक्शन राष्ट्रीय शिविर के लिए हो गया। लखनऊ में 15 दिन के शिविर में शुभम के खेल ने चयनकर्ताओं को खासा प्रभावित किया जिसके बाद शुभम का सेलेक्शन यूपी टीम में किया गया।

शुभम आज होने वाले मुकाबले में 5 नंबर की जर्सी पहनकर खेलेंगे। शुभम के अलावा सशस्त्र सीमा बल के राजू ठाकुर, अंकित श्रीवास्तव, राहुल, लखनऊ से अंकित, मोहित यादव, प्रयागराज के आयुष, मुजफ्फरनगर से अरुण कुमार, कानपुर से अर्पित यादव, आजमगढ़ से रंजन श्रीवास्तव, आर्मी से हसीन खान और गोरखपुर से सूरज प्रकाश पाल समेत 18 खिलाड़ियों का चयन हुआ है।

विज्ञापन