विज्ञापन

वाराणसी। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के ऐलान के बाद 25 मार्च से देश में लॉकडाउन का आदेश दे दिया गया। इन दो महीनों में कोरोना ने देश में ऐसा पैर पसारा की आज आंकड़ा 70 हजार के भी पार चला गया। बात करें अपने बनारस की तो शासन और जिला प्रशासन के लाख जद्दोजहद और मेहनत के बाद भी काशी में कल कोरोना संक्रमित का आंकड़ा 115 तक चला गया है। तसल्ली की बात यह है कि इनमे से 68 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं और 43 इस वायरस से अभी भी लड़ रहे हैं, लेकिन खतरा टला नहीं है।

अब आप ही सोचिए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन अगर इस लॉकडाउन में सख्त न हुई होती तो यह आंकड़ा 100 नहीं शायद 200 या 300 पार भी जा सकता था। कोरोना संक्रमण को हराने की हर मुमकिन तैयारी करने के बाद बुधवार से वाराणसी में भी कई सारी छूटों के साथ सुबह 7 से 5.30 तक दुकानें खोलने की अनुमति दी तो गई है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं के खतरा टल गया। ध्यान रहे मार्केट शुरु होने का इंतजार सिर्फ आप नहीं कोरोना वायरस भी कर रहा है।

WHO ने भी हिदायत दे ही है कि इस वायरस या बीमारी के साथ जीने की आदत डाल लें। मगर तब जब इसकी वैक्सीन इजात हो जाए। तब तक सावधानी, नियमों का पालन, सतर्कता और सोशल डिस्टेंसिंग ही इसका इलाज है।

घर से निकलें, व्यापार भी शुरु करें दुकानें भी नियमानुसार खोलें पर हर उस सावधानी का ध्यान दें जो इस वक्त बेहद जरुरी है, क्योंकि आपकी एक लापरवाही कोरोना को आपके घर तक ला सकती है, इसलिए सावधान रहें और सुरक्षित रहें।

विज्ञापन