विज्ञापन

वाराणसी। मकर संक्रांति के मौके पर दिन भर फ़िज़ा में पतंग उड़ती रही और ‘भक्काटे’ का नारा गूंजता रहा। इसी बीच लगातार ज्वलंत मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया देने में माहिर बनारसियों ने पतंग के माध्यम से नागरिकता संशोधन कानून 2019 के समर्थन में पतंग उड़ाई। पतंगों पर CAA के समर्थन में स्टिकर और कलम से लिखकर शहर के अलग-अलग स्थानों से युवाओं के साथ साथ बच्चों ने पतंग उड़ाई।

विज्ञापन

शहर के भारत माता मंदिर में हिन्दू-मुस्लिम युवक-युवतियों ने एक जुट होकर सीएए के समर्थन में पतंगबाज़ी की। इस दौरान फ़िज़ा में समर्थन वाली पतंग के पेंच भी खूब लड़े। इस सम्बन्ध में पतंग उड़ा रहे वेद प्रकाश ने बताया कि मकर संक्रांति पर्व पर पूरे देश में पतंग उड़ाई जाती है। इसी क्रम में आज हम सभी ने टांग उड़ाई है पर यह पतंग ख़ास है।

विज्ञापन

वेद ने बताया कि हम सभी हिन्दू-मुस्लिम भाइयों ने मिलकर नागरिकता संशोधन कानून 2019 के समर्थन वाली पतंग उड़ाई है। इस अनोखी पतंग के ज़रिये हमने जो नागरिकता कानून के विरोध में जो भ्रांतियां फैलाई जा रही है। उसका विरोध किया है और उसके समर्थन में पतंग उड़ाई गयी है।

विज्ञापन

डीएलडब्लू इलाके अपने घर की छत पर से पतंग उड़ा रही बच्चियों ने भी पतंग के ज़रिये एनआरसी और सीएए का समर्थन किया और लोगों से इस कानून के लिए फैलाए जा रहे भ्रम से बचने की अपील की।

विज्ञापन

इस तरह सम्पूर्णानद स्पोर्ट्स स्टेडियम में खिलाड़ियों ने सीएए के समर्थन में पतंगबाज़ी की। पतंग उड़ा रहे टेबल टेनिस खिलाड़ी मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने कहा कि आज हमने CAA के समर्थन में आज हमने पतंग उड़ाई है क्योंकि यह कोई देश विरोधी कानून नहीं है। हम यही चाहते हैं की मुल्क में अमन और शान्ति रहे, इसलिए आज हमने यह पतंग उड़ाई है।

देखिये तस्वीरें 

विज्ञापन
Loading...