विज्ञापन

वाराणसी। प्रधनमंत्री के संसदीय क्षेत्र के रोहनिया थाना अंतर्गत देल्हना ग्राम में पंचायत भवन में बैठक कर रही महिला प्रधान को धमकाने और उसके साथ अभद्रता करने का मामला सामने आया है। इस सम्बन्ध में ग्राम प्रधान ने जि‍ले के मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी से मिलकर शिकायत दर्ज कराई।

सीडीओ ने ग्राम प्रधान को मि‍ली धमकी को गंभीरता से लि‍या है। उन्‍होंने कहा है कि‍ मैं खुद इस पूरे मामले को देखूंगा। देखता हूं कौन दबंग काम रुकवा देता है।

दरअसगल, देल्हना की भुक्तभोगी महिला ग्राम प्रधान कुसुम ने सोमवार को ही वि‍कास भवन पहुंचकर इस मामले में सीडीओ से मुलाकात की थी। उन्‍होंने बताया कि उनके गांव में गौशाला बनवाने में कुछ भूमाफिया और हिस्ट्रीशीटर अड़ंगा डाल रहे हैं और बनवाने नहीं दे रहे हैं। यहां तक कि‍ मज़दूरों को डरा-धमकाकर भगा दिया जा रहा है। इस सूचना पर जब हमने पंचायत भवन पर मज़दूरों को समझाने के लि‍ये बुलाया और उनसे कहा कि‍ आप लोग काम कीजिये कोई दिक्कत नहीं आएगी, आप को पूरा भुगतान होगा। तब कुछ दबंग लोग आ के हमें धमकाने लगे।

ग्रामा प्रधान कुसुम ने आरोप लगाया कि गांव के भूमाफिया और दबंग कि‍स्‍म के लोग पंचायत भवन में घुसकर गौशाला न बनवाने की चेतावनी देने लगे और हमसे अभद्रता की गयी। वहां रखी कुर्सियां भी तोड़ी गयी हैं। कुसम ने बताया इन लोगों ने सरकारी दस्तावेज़ भी नष्ट किया और जाते समय हमें जान से मारने की धमकी भी दी। हमने इस सम्बन्ध में थाना रोहनिया और अधिकारियों को सूचित कर दिया है।

इस घटना के बाद सोमवार को कुसुम और उनके समर्थक जि‍ले के युवा आईएएस अफसर मुख्‍य वि‍कास अधि‍कारी (सीडीओ) मधुसूदन हुल्गी से उनके कार्यालय मिलने पहुंचे। कुसुम ने बताया की सीडीओ ने कहा है कि आप बि‍ना कि‍सी डर के काम करवाइये मैं खुद पहुंचकर देखूंगा कि कौन दबंग गोशाला नहीं बनने दे रहा है।

विज्ञापन