बनारस की ‘उड़न परी’ का हुआ 21वीं एशियन मास्टर्स एथलेटिक चैंपियनशिप के लिए चयन

वाराणसी। 21वीं एशियन मास्टर्स एथलेटिक चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिए भारतीय दल का चयन आज हो गया। इस चयन में वाराणसी की ‘उड़न परी’ कही जाने वाली मास्टर्स एथलीट नीलू मिश्रा को भी मौक़ा दिया गया है। मलेशिया के कुचिंग शहर में दो से सात दिसंबर तक आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता में नीलू मिश्रा 100मीटर, 200मीटर दौड़ और 80 मीटर हर्डल के साथ साथ ऊंची कूद में हिस्सा लेंगी।

विज्ञापन

साल 2010 में मलेशिया के क्वालालम्पुर में आयोजित एशियन गेम्स में पहली बार हिस्सा लेने जब काशी की बहु नीलू मिश्रा पहुंची तो किसी ने सोचा भी नहीं था कि ये 4 गोल्ड मेडल और एक कांस्य देश के नाम करेंगी। 2010 में जो सफर शुरू हुआ वह 2012 में चीन में साल 2012 में दो गोल्ड, एक सिल्वर, एक ब्रॉन्ज़, साल 2014 में जापान में 2 सिल्वर, 2016 में सिंगापुर में आयोजित एशियन मास्टर्स एथेलेटिक चैम्पियनशिप में 1 सिल्वर एक ब्रॉन्ज़ पदक हासिल किया।

एक बार फिर उनपर भरोसा जताते हुए मास्टर्स एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव डी. डेविड प्रेमनाथ ने मंगलवार को उनके नाम की घोषणा की।

नीलू मिश्रा से इस सम्बन्ध में जब Live VNS ने बात की तो उन्होंने कहा कि इस बार भी स्वर्ण पदक लाने की कोशिश करुंगी और काशीवासियों को निराश नहीं करुंगी। उन्होंने कहा कि ये काशीवासियों का प्यार ही है कि मेरा लगातार एशियन गेम्स में चयन होता रहा है और मैं देश के लिए पदक लाती रही हूं। नीलू मिश्रा अभी तक 72 से ज़्यादा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पदक अपने नाम कर चुकी हैं।

प्रदेश सरकार रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित भी कर चुकी है। बाल विकास विभाग वाराणसी में सुपरवाइजर पद पर कार्यरत नीलू जिला ओलंपिक संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, हॉकी वाराणसी और जिला नौकायन संघ की अध्यक्ष भी हैं। नीलू मिश्रा प्रदेश की पहली मास्‍टर्स एथलीट भी हैं जिन्‍होंने 2009 में फ‍िनलैंड में आयोजित वर्ल्‍ड मास्‍टर्स चैंपियनशिप में भारत के लिए ऊंची कूद में कांस्‍य पदक जीता था। वहीं 2017 में उन्‍होंने बेंगलुरु में खिलाडियों के लिए आयोजित ब्‍यूटी कांटेस्‍ट में ब्‍यूटी क्‍वीन का खिताब भी अपने नाम किया है।

नीलू मिश्रा का सामाजिक सरोकारों से जुड़ाव भी है, वह मलिन बस्ती के बच्चों को निशुल्क खेलों का प्रशिक्षण भी देती हैं। इसके अलावा स्वीप वाराणसी की ब्रांड अंबेसडर भी हैं।

Loading...