सुप्रीम कोर्ट का फैसला ऐति‍हासि‍क, अब जल्‍द से जल्‍द बने भगवान राम का मंदि‍र : नरेन्‍द्रानंद सरस्‍वती

वाराणसी। भगवान राम का वर्षों का वनवास आज सुप्रीम कोर्ट ने ख़त्म कर दिया। श्रीराम जन्मभूमि न्यास/ बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ये बात कही काशी सुमेरू पीठ के शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती ने कही। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य है और केंद्र सरकार को जल्द से जल्द ट्रस्ट बनाकर भव्य मंदिर का निर्माण शुरू करना चाहिए।

काशी सुमेरू पीठ के शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती ने श्री राम जन्म भूमि न्यास/बाबरी मस्जिद के ऊपर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले के बाद कहा कि जहां धर्म है वहां विजय है। भगवान् राम इस देश की चेतना, आस्था, श्रद्धा और विश्वास हैं। उच्च्तम न्यायलय ने भी ये मान लिया कि जहां रामलला विराजमान हैं वहीं भगवान् राम का जन्म हुआ था।

काशी सुमेरू पीठ के शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती ने आगे कहा कि उच्चतम न्यायलय ने यह ऐतिहासिक फैसला देकर श्रीराम का वर्षों का वनवास खत्म कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को ट्रस्ट बनाने के लिए कहा है वो जल्द से जल्द इसपर ट्रस्ट बनाये और भव्य मंदिर का निर्माण करे।

वहीं उन्होंने कहा कि जो कानून को हाथों में ले रहे हैं उनके विरुद्ध प्रशासन सख्त कार्रवाई करे।

Loading...