विज्ञापन

वाराणसी। 14 अप्रैल को राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन ख़त्म होने के बाद सभी ट्रेनों का संचालन 15 अप्रैल से शुरू कर दी जाएंगी भारतीय रेलवे ने गुरुवार को इन सभी मीडिया रिपोर्ट्स का खंडन कर दिया है। रेलवे द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि रेलवे मंत्रालय ने अभी तक ना तो लॉकडाउन के बाद ट्रेन चलाने और ना ही यात्रियों के लिए कोई यात्रा प्रोटोकॉल जारी किया है।

रेलवे ने कहा है कि ऐसे समय में यात्री सेवाओं को फिर से शुरू करने के मानदंडों के बारे में अटकलें लगाना समय से पहले की बात है। रेलवे यात्रियों सहित सभी स्टेक होल्डर्स के हितों को ध्यान में रखते हुए ही कोई निर्णय लेगा।

रेलवे ने सभी लोगों से अनुरोध किया है कि वे मीडिया के कुछ हिस्सों द्वारा दिखाई जा रही भ्रामक खबरों पर ध्यान ना दें। जब इस संबंध में कोई फैसला लिया जाएगा तो सभी संबंधितों को इसके बारे में सूचित किया जाएगा।

भारतीय रेलवे की यह टिप्पणी कुछ समाचार रिपोर्ट्स में लॉकडाउन के बाद ट्रेन सेवाओं के शुरू होने के दावे के बाद आई है। रिपोर्ट्स में कहा गया था कि भारतीय रेलवे 14 अप्रैल के बाद ट्रेन सेवाओं को फिर से शुरू करने की योजना तैयार कर ली है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी कहा गया था कि यात्रियों की रेलवे स्टेशन में प्रवेश से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। ट्रेन चलने से 4 घंटे पहले यात्रियों को स्टेशन पर आना होगा।

भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 24 मार्च से 14 अप्रैल तक यात्री, मेल और एक्सप्रेस ट्रेन सेवाओं को निलंबित कर दिया है। देश भर में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सिर्फ विशेष रूप से माल और विशेष पार्सल ट्रेनें चालू हैं।

विज्ञापन