वाराणसी : संस्कृत के पठन-पाठन एवं प्रचार-प्रसार को लेकर विद्वानों ने किया मंथन

विज्ञापन

वाराणसी। अस्सी स्थित रामेश्वरम मठ में भारतीय शिक्षा मंडल, महर्षि शारदा कंपनी महर्षि संदीपनी राष्ट्रीय वेद विद्या प्रतिष्ठान एवं रामेश्वर मठ के संयुक्त तत्वाधान में भारतीय संस्कृति, संस्कृत, वेद उपनिषद एवं सभ्यता के पठन-पाठन एवं उसके प्रचार प्रसार को लेकर लेकर एक बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक के मुख्य अतिथि संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर राजाराम शुक्ल, विशिष्ट अतिथि राम मनोहर लोहिया, अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मनोज दीक्षित, जगद्गुरु  रामानंदाचार्य विश्वविद्यालय जयपुर के पूर्व कुलपति युगल किशोर मिश्र शामिल रहे।
बैठक को संबोधित करते हुए संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर राजाराम शुक्ल ने कहा कि भारती विद्या वेद उपनिषद एवं संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए हमें नर्सरी से ही प्रयास करना चाहिए। छोटे बच्चों को भारतीय संस्कृति एवं ज्ञान के प्रति जागरूक करने के लिए जगह-जगह एक वर्कशॉप का आयोजन करना चाहिए।

प्रोफेसर मनोज दीक्षित ने कहा कि भारतीय संस्कृति वेद उपनिषद के प्रचार-प्रसार और आने वाली पीढ़ी को इसके प्रति ज्ञान देने के लिए वाराणसी में जल्द ही एक वर्कशॉप का आयोजन किया जाएगा।

बैठक को संबोधित करते हुए प्रोफेसर युगल किशोर मिश्र ने कहा कि आज जरूरत है कि आने वाली पीढ़ी को भारतीय वेद, उपनिषद एवं भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का ज्ञान होना चाहिए, इसके लिए हमें इसके लिए हमे जूनियर हाई स्कूल हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट के छात्रों को एक जगह बुलाकर वर्कशॉप के माध्यम से उन्हें भारतीय संस्कृति के प्रति परिचित कराना होगा।

समारोह को संबोधित करते हुए महर्षि संदीपनी राष्ट्रीय वेद विद्या प्रतिष्ठान के पूर्व सचिव प्रोफेसर किशोर मिश्र ने कहा कि वाराणसी में जल्द ही भारतीय शिक्षा मंडल, महर्षि संदपनि राष्ट्रीय वेद विद्या प्रतिष्ठान उज्जैन एवं रामेश्वर मठ, स्वामी नारायणनंद वेद विद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में एक वर्कशॉप का आयोजन कर भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार का कार्य किया जाएगा।

बैठक को प्रोफेसर राममूर्ति चतुर्वेदी पूर्व अध्यक्ष संस्कृत विभाग, विद्यापीठ प्रोफ़ेसर हरिप्रसाद अधिकारी, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय प्रोफेसर राम किशोर त्रिपाठी, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय डॉक्टर विजय शर्मा डॉ ज्ञानेंद्र शाहपुरा सहित काशी के मुर्धन विद्वानों ने संबोधित किया।

कार्यक्रम का संचालन रामेश्वर मठ के साधक स्वामी लखन स्वरूप ब्रह्मचारी ने किया। आए हुए अतिथियों का स्वागत रामेश्वर मठ के प्रबंधक अरुणेश दीक्षित ने किया।

Loading...