सम्पूर्णानन्द में सजेगी कालीन नगरी, स्मृति ईरानी करेंगी उद्घाटन

File Image

वाराणसी। कालीन निर्यात संवर्धन परिषद की ओर से 38वां कालीन एक्सपो शुक्रवार से सम्पूर्णानन्द विश्वविद्यालय के खेल मैदान में आयोजित होने जा रहा है। यह एक्सपो 14 अक्टूबर तक चलेगा। देश में 38वां और वाराणसी में 15 वीं बार हो रहे इस एक्सपो में अभी तक 340 आयातकों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है।

इस सम्बन्ध में सीईपीसी अध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह ने बताया कि वर्ष में दो बार होने वाले इस कालीन एक्सपो में विदेश से कालीन आयातक आते हैं और वो भारतीय कालीन को पसंद कर इस व्यापार को नए मुकाम पर पहुंचा रहे हैं। यह एक्सपो इस कार्य में महती भूमिका निभा रहा है। इस वर्ष इस कालीन मेले का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी करेंगी।

सीईपीसी अध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह ने प्रेस वार्ता कर कहां कि वर्ष में दो बार सीईपीसी वाराणसी व दिल्ली में कालीन मेला आयोजन करती है। इस बार के मेले में विभिन्न नये देशो के आयातक भी आ रहे है, जिससे उद्योग को नई दिशा मिलेगी। उन्होंने कहां कि सीईपीसी हस्तनिर्मित कालीनो को लेकर गम्भीर है। विश्व पटल पर मशीनमेड के बढते बाजार जिसका कम लागत व कम समय में अधिक प्रोडेक्शन के बीच हस्तनिर्मित कालीनों जिसका लेबर कास्ट सहित कच्चे माल की अधिक लागत के बीच बनाएं रखना चुनौतियों से भरा है, लेकिन सीईपीसी हैंडमेड कालीनो को लेकर गम्भीर है। इसी को ध्यान में रख कर सीईपीसी नये नये बाजार तलाश कर रही है।

उन्होंने बताया की हैंडमेड को बढ़ावा देने के लिए हमने कालीन मेले में इस चीज़ को ध्यान में रखते हुए आयातको को आमंत्रित किया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक 342 आयातको ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है जबकि 25 से 30 अन्य आयातको के भी आने की संभावना है। कार्पेट एक्सपो के लिए करोड़ों की लागत से वाटरप्रूफ पंडाल बनने के साथ कालीन नगरी भदोही-मीरजापुर से लेकर दिल्‍ली, जयपुर, पानीपत, जम्‍मू-कश्‍मीर तक के कालीन निर्यातक 300 स्‍टॉलों को अपने उत्‍पादों से सजाने में जुटे हैं।

File Image

11 से 14 अक्‍टूबर तक चलने वाले कार्पेट एक्‍सपो में 49 देशों के 400 से ज्‍यादा लोगों ने पंजीकरण कराया है। पहली बार कजाकिस्‍तान के खरीदार भी इस तरह के एक्सपो में आ रहे हैं। अध्यक्ष सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि इस वर्ष कुछ नये देश स्लोवाकिया, लेबलान, कुवैत, चिल्ली, नाइजेरिया,कतर, ताइवान के आयातक भी आ रहे है। इसके अलावा वर्तमान के 6 आयातक USA से, चाइना से 36 आयातक, ऑस्ट्रेलिया के 18 आयातक, जर्मनी  से 20, टर्की से 18 आयातक, रशिया से 15, इजराइल से 3, बेल्जियम व इटली से 10, कनाडा से 12, श्रीलंका से 14 आयातक को विशेष रुप से आमंत्रित किया गया है।

अब तक  230 आयातक ने स्टाल बुक कराया है। मेला 5800 स्क्वायर मीटर में होगा। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि इस बार आयातक व वीआईपी के लिए अलग अलग व्यवस्था की गयी है। बता दें कि वर्ष 2018 में एक्‍सपो में 500 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का कारोबार हुआ था।

Loading...