बनारस में लागू विकास योजनाएं उत्कृष्ट स्तर की है, इन्हें समय पर पूरा करें : मंत्री आशुतोष टंडन

नगर विकास मंत्री ने स्मार्ट सिटी, स्वच्छ भारत मिशन, नगरीय विकास की समीक्षा की
नगर में पार्किंग स्थलों के निर्माण पर मंत्री ने दिया जोर
सीवर सफाई व साफ-सफाई के लिए नगर निगम को अतिरिक्त मैनपावर उपलब्ध होंगे

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं जनपद के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन ने सर्किट हाउस में सोमवार को स्मार्ट सिटी, स्वच्छ भारत मिशन व नगर निगम के विभिन्न योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की।

इस दौरान कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पावर प्ले के माध्यम से नगर में पूर्ण हो चुकी विकास योजनाओं, निर्माणाधीन योजनाओं एवं आगे लागू होने वाली योजनाओं का एक-एक कर विस्तार से प्रेजेंटेशन किया।

नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि बनारस में लागू योजनाएं उत्कृष्ट श्रेणी की है इन्हें समय से पूर्ण किया जाए। उन्होंने पार्किंग स्थलों के निर्माण पर विशेष जोर देते हुए जहां संभव हो अंडर ग्राउंड पार्किंग का सुझाव दिया।

उन्होंने कहा कि गोदौलिया पर निर्माणाधीन पार्किंग स्थल को तेजी से पूर्ण कराकर इनके दुकानदारों को जगह देकर कार्य पूरा करें, जिससे पार्किंग का लाभ मिले। इससे विश्वास बढ़ेगा और आगे की परियोजनाओं में लोगों का सहयोग मिलेगा।

बैठक में स्मार्ट सिटी के पूर्ण हुए व निर्माणाधीन कार्यों यथा- कान्हा उपवन छितौनी, चौकाघाट-अंधरापुल फ्लाईओवर, महमूरगंज फ्लाईओवर, 4 पार्कों के सुंदरीकरण, काशी इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल, मंदाकिनी कुंड जीर्णोद्धार, दशाश्वमेध घाट, दरभंगा घाट, शीतला घाट के रिवाइटलाइजेशन, बेनियाबाग पार्क का विकास, गोदौलिया टू व्हीलर पार्किंग आदि कार्यो की प्रगति जानी।

मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि नगर के विकास हेतु आगे लगभग 15-16 तालाबों का चरणबद्ध विकास व सौंदर्यीकरण, गंगा की समस्त 84 घाटों पर उनके नाम व संक्षिप्त विवरण, टाउन हॉल में पार्किंग, झूले, पार्को के सौंदर्यीकरण, 16 वार्डों के पुनर्विकास जो हेरिटेज व पर्यटन की दृष्टि से विकसित किये जायेंगे।

इसके अलावा खिड़कियां घाट का पुनर्विकास, वाटर सीवरेज व विद्युत का स्काडा सिस्टम, नावों को सीएनजी में कन्वर्ट करने की योजना, शहर में 721 एडवांस सर्विलांस कैमरा की स्थापना, दशाश्वमेध घाट की विकास व सौंदर्यीकरण कार्य आदि को स्मार्ट सिटी में दिया जा रहा है।

वार्डों के विकास में प्रथम चरण में आदमपुर ज़ोन के काल भैरव वार्ड को लिया गया है। इसकी 16 करोड़ रूपये की डीपीआर तैयार हो चुकी है।

प्रधानमंत्री नगरीय आवास योजना की समीक्षा के दौरान मंत्री ने स्थाई रूप से बसे झुग्गी-झोपड़ी के लोगों को आवास उपलब्ध कराए जाने पर विशेष जोर दिया।

उन्होंने शहर की साफ सफाई पर विशेष जोर देते हुए समस्त कूड़ा उठान प्रतिदिन कराने के निर्देश दिए। क्षतिग्रस्त मार्ग व वाटर लॉगिंग के कारण कूड़ा डंपिंग स्टेशन पर नहीं पहुंचने की जानकारी पर उन्होंने कड़ाई के साथ निर्देशित किया कि आज ही शाम तक ऐसे स्थलों से कूड़ा उठान कराकर वैकल्पिक रास्तों से कूड़ा भिजवाए। इसमें कतई विलंब नहीं होनी चाहिए।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने अगुवाई करते हुए पंडित दीनदयाल नगर में अस्थाई रूप से कूड़ा भेजने हेतु वहां के अधिकारी से फोन पर बात कर ली। यह भी बताया गया कि रमना गांव से होकर रास्ता है। इसे अस्थाई तौर पर उपयोग कर कूड़ा डंपिंग स्थल पर भेजा जाए।

बैठक में महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक कैंटोंमेंट सौरभ श्रीवास्तव, जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

 

 

Loading...