प्रतिकात्मक चित्र
विज्ञापन

वाराणसी। मंडलायुक्त कार्यालय परिसर में प्रस्तावित 17 मंजिला मंडलीय भवन के निर्माण को मुख्यमंत्री योगी ने हरी झंडी दे दी है। अब इसे कैबिनेट में भेजने की तैयारी है। मंडलीय भवन में कुल 41 कार्यालय होंगे, यह शहर का सबसे ऊंचा प्रशासनिक भवन होगा।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि हर जिला मुख्यालय पर जिलास्तर के कार्यालयों के लिए विकास भवन हैं। इसी तर्ज पर मंडल मुख्यालय में मंडलस्तरीय कार्यालय भवन बनेगा। इससे जरुरतमंदों को अपने काम के लिए अलग-अलग इलाकों में स्थित कार्यालयों तक दौड़ नहीं लगानी होगी। एक ही छत के नीचे सारे विभागों के कार्यालय मिल जाएंगे।

कमिश्नर ने बताया कि राजस्व विभाग के जमीन का स्थानांतरण होना है। लिहाजा उस पर मुख्यमंत्री से सहमति लेने के लिए राजस्व विभाग की ओर से फाइल भेजी गयी थी। मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से मुख्यमंत्री योगी ने पूरी कार्य योजना का प्रेजेंटेशन देखा है।

मंडलीय भवन में नीचे पार्किंग के साथ ही चार फ्लोर में बैंक, पार्क, मीटिंग हाल, ऑडिटोरियम, कैफेटेरिया, लॉबी आदि होंगे। इसके बाद के तलों पर 41 विभिन्न विभागों के कार्यालय खुलेंगे, जिसमें संयुक्त विकास आयुक्त से लेकर मत्स्य, हथकरघा, कृषि, वित्त, समाज क्लयाण, पंचायत, श्रम, आबकारी, स्टांप संस्थागत वित्त, बेसिक शिक्षा, खाद्य व सुरक्षा औषधि, उद्यान, दिव्यांग, अल्पसंख्यक, कोषागार व पेंशन, उद्योग आदि के कार्यालय होंगे।

विज्ञापन