बनारस की इस बहु ने किया शूटिंग में कमाल, नेशनल के लिए हुआ चयन

वाराणसी। पिछले दस सालों से अपने ससुराल की छत पर शूटिंग रेंज बनाकर प्रैक्टिस कर रही काशी की बहु ने आखिर मेहनत का फल चख लिया। शहर के घौसाबाद इलाके की बहु और हुकुलगंज की बेटी सुप्रिया सिंह ने हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित नॉर्थ जोन प्रतियोगिता में सटीक निशाना लगाकर नेशनल के लिए क्वालीफाई कर अपना और काशी का मान बढाया है। सुप्रिया के पति भूपेंद्र प्रताप सिंह भी नेशनल शूटर हैं।

उगाओ चांद सब्र से, सूरज लपक लो अब्र से, उठो उठाओ ताज को संभालो राज काज को” नारी सशक्तिकरण को समर्पित ये चार लाईने काशी की सुप्रिया पर सटीक बैठती है, जिसने शादी के बाद भी अपनी स्पॉर्ट्स के प्रति जिज्ञासा को मरने नहीं दिया और आज उन्होंने नेशनल शूटिंग चैम्पियनशिप के लिए क्वालीफाई कर लिया।

विज्ञापन

दिल्ली से हाल ही में लौटी सुप्रिया से हमने उनकी छत पर बनी शूटिंग रेंज में मुलकात की। लाज और लज्जा की मूरत सुप्रिया पहले तो शरमाई पर फिर एक स्पोर्ट्स मैन की तरह उन्होंने अपने सपनों का तराना हमें सुनाया। सुप्रिया ने बताया कि दस सालों से वह शूटिंग कर रही हैं और ये शूटिंग अखबारों में शूटरों की खबर पढ़कर शुरू की थी।

उसके बाद वहीं शूटर भूपेंद्र सिंह से मिली और उनसे शादी कर ली। ससुराल आयी तो शूटिंग कुछ दिन के लिए रुकी पर पति के सहयोग से घ रकी छत पर ही 10 मीटर एयर पिस्टल की रेंज बनवायी और प्रैक्टिस शुरू कर दी जिसके बाद हाल ही में दिल्ली में सम्पन्न हुई नार्थ ज़ोन शूटिंग प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन कर नेशनल चैम्पियनशिप का टिकट कटवाया है।

सुप्रिया के निशानेबाज़ पति भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि मैं खुद एक नेशनल लेवल का निशानेबाज हूं इसलिए अपनी पत्नी की प्रतिभा को देखते हुए उनके प्रैक्टिस के लिए छत पर रेंज बनवाया और पारिवारिक सपोर्ट के साथ उन्हें निशानेबाजी के खेल में साथ दे रहा हूँ। आज सुप्रिया ने अपनी कड़ी मेहनत से पूरे घर का और खासकर के मेरा सम्मान बढ़ाया है। हम सब को इनपर नाज़ है।

बनारस में महिला खिलाड़ियों की संख्या पहले ही कम है और शादी के बाद तो महिलाएं पूरी तरह से घर-गृहस्थी में रम जाती हैं। ऐसे में सुप्रिया की कड़ी मेहनत और नेशनल के लिए क्वालीफाई करना दूसरी महिलाओं को न सिर्फ रास्ता दिखाया बल्कि यह संदेश दिया है कि इच्छाशक्ति से हर चुनौती पर विजय प्राप्त की जा सकती है।

जनपद के निशानेबाज लंबे अर्से से जिला राइफल क्लब के रेंज को आधुनिक बनाने के लिए प्रशासन से मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि अगर रेंज को आधुनिक बना दिया जाए तो यहां के कई अंतरराष्ट्रीय स्तर के निशानेबाज सामने आएंगे।

Loading...