वाराणसी के कांग्रेस नेता का छलका दर्द, बोले-आंदोलनों के बदले मिला अपमान

विज्ञापन

वाराणसी। 10 जनवरी को प्रियंका गांधी के पंचगंगा घाट पर श्रीमठ में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने से रोकने पर कांग्रेस नेत्री श्वेता राय और उनके पति विनय राय ने जमकर बवाल काटा था, जिसके बाद कांग्रेस अनुशासन समिति ने उन्हें कारन बताओ नोटिस भेजी है। मीडिया में यह खबर प्रकाशित होने के बाद जब Live VNS ने उनकी राय जाननी चाही तो उन्होंने कहा कि ‘आंदोलन के बदले हमारा अपमान किया गया। उसके बाद अनुशासन समिति की नोटिस। हम सभी साक्ष्यों के आधार पर अनुशासन समिति को जवाब देंगे।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की निर्वतमान प्रदेश सचिव एवं युवा कांग्रेस की पूर्व प्रदेश महासचिव श्वेता राय एवं किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय सह संयोजक विनय शंकर राय मुन्ना ने कहा कि नोटिस का जवाब साक्ष्य के साथ अनुशासन समिति को और शीर्ष नेतृत्व को नोटिस मिलते ही दिया जायेगा और गिरोह बनाकर संघर्षशील निष्ठावान कार्यकर्ताओं को पार्टी से बेदखल करने की साजिश का भी पर्दाफाश किया जायेगा।

श्वेता राय ने कहा कि सीएए एवं एनआरसी के विरोध के खिलाफ अन्दोलनरत अन्दोलनकारियो से आदरणीय प्रियंका गांधी जी के सम्वाद कार्यक्रम में साजिश करके पहले अपमानित किया गया और आज फिर अनुशासनहीनता का आरोप लगाकर अनुशासन समिति के सदस्य श्याम किशोर शुक्ला के नोटिस का समाचार मीडिया के माध्यम से मिलने से आहत हूँ।

उन्होंने बताया कि जिस अन्दोलन को संज्ञान में लेकर आदरणीय प्रियंका गांधी जी वाराणसी 10 जनवरी को आयी थी। उस अन्दोलन के समर्थन में वाराणसी कांग्रेस का कोई सदस्य सड़क पर उतरना तो दूर फ़ेसबुक और सोशल मीडिया पर अन्दोलनकारियो के समर्थन में एक शब्द भी नहीं लिखा । 19 दिसम्बर से 4 जनवरी तक लगातार संघर्ष करके हम लोगों ने अन्दोलन को राष्ट्रीय मुद्दा बनाया और जेल में बन्द साथियों को जेल से लेकर रिहाई तक संघर्ष किया, लेकिन जब प्रियंका जी का बनारस कार्यक्रम लगा तो हम लोगों को ही बेदखल कर कांग्रेस नेतृत्व को गुमराह करने की कोशिश की गयी, जो खुली किताब की तरह सबके सामने है।

श्वेता राय ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के स्थानीय मठाधीश अपनी गलती पर परदा डालने के लिये हम लोगों को जिस तरह लगातार अपमानित करा रहे हैं उससे कांग्रेस पार्टी कमजोर ही होगी ।उन्होंने कहा कि 10 जनवरी को प्रियंका जी से सम्वाद कार्यक्रम में आमन्त्रित कर ऐसे नेता द्वारा अपमानित कराया गया जिसका कांग्रेस पार्टी में कोई योगदान नहीं है, फिर भी हम लोगों ने प्रियंका गांधी जी के सम्वाद कार्यक्रम में कोई शिकायत नहीं कर अनुशासन का परिचय दिया ।

देखिये वीडियो

Loading...