विज्ञापन

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने गुरुवार को कैम्प कार्यालय पर टिड्डियों के खतरे को देखते हुए सभी आवश्यक संसाधनों के साथ साथ पूरी तैयारी करने सम्बंधी बैठक की है। उन्‍होंने अफसरों को नि‍र्देश दि‍ये हैं कि‍ टिड्डियों के हमले से फसलों को बचाने के लिए सभी सम्भव उपाय कर लिये जाएं।

जि‍लाधि‍कारी ने काशी विद्यापीठ, आराजी लाइन एवं सेवापुरी ब्‍लॉक में विशेष रूप से बचाव अभियान चलाने के लि‍ये नि‍र्देशि‍त कि‍या है, क्योंकि टिड्डियों का दल मिर्जापुर व सोनभद्र क्षेत्रों तक पहुंच चुका है। यहां से आगे बढ़ने पर इन तीनों ब्लाक क्षेत्रों में टि‍ड्डि‍यों का दल फसल को नुक्सान पहुंचा सकते हैं।

जि‍लाधि‍कारी ने शुक्रवार सुबह से ही तैयारी में जुटने के लि‍ये अफसरों को नि‍र्देशि‍त करते हुए कहा कि‍ हर गांव में 20 ट्रैक्टर, हर ब्लाक में 20 टाटा मैजिक तथा बड़े तालाब व ट्यूबवेलों को चि‍ह्नि‍त करते हुए सूची बनायी जाए।

इसके अलावा 4 से 5 फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को भी स्प्रे कार्य के लिए तैयार रखने का निर्देश डीएम ने दि‍या है। हर ब्लाक पर सौ सौ मैनुअल स्प्रे वालों को भी तैयार रखने का निर्देश दिया है। इसके लि‍ये डीएम ने एडीओ पंचायत को प्रभारी बनाया है।

इसके साथ ही तीनों ब्लाकों में हर प्रधान को नि‍र्देश जारी कि‍ये गये हैं कि‍ वो मोबाइल डीजे को चि‍ह्नि‍त कर लें साथ ही ड्रैगन लाइट की व्‍यवस्‍था भी सुनिश्चित की जाए, जिससे दिन में आवाज़ करके तथा रात के समय दवा का छिड़काव करके टिड्डियों को मारा जा सके।

तीनो ब्लाक में पांच से दस टीमें बना कर जिला कृषि अधिकारी को अवेयरनेस कराने का निर्देश दि‍या गया है।

इन ब्लाकों के सभी गांवों के प्रधानो की बैठक कराने का निर्देश तथा एसडीएम को लेखपालों की भी ड्यूटी लगाकर ग्राम प्रधानो के सम्पर्क में रहने का निर्देश जारी कि‍या गया है।

आठों ब्लाकों पर उपलब्ध संसाधनों की सूची बनाने का निर्देश जि‍लाधि‍कारी ने दिया है, जिसमें ट्रैक्टर, पावर स्प्रे, मैनुअल स्प्रे तथा बड़े तालाब तथा ट्यूबवेल आदि का चि‍ह्नीकरण कर लिया जाए।

इस बैठक में सभी एसडीएम सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

विज्ञापन