Varanasi police action continues for the second day three henchmen of Mukhtar Ansari arrested
विज्ञापन

वाराणसी। शहर के कैंटोमेंट इलाके से सोमवार को पकडे गए मुख़्तार अंसारी सक्रिय गुर्गे मोहम्मद सलीम की गिरफ्तारी के बाद वाराणसी पुलिस मुख्तार के गुर्गों पर लगातार नकेल कस रही है। इसी क्रम में मंगलवार को करवाई करते हुए लंका पुलिस, शिवपुर पुलिस व जिला प्रशासन (खाद्य सुरक्षा विभाग व मत्स्य विभाग) द्वारा संयुक्त अभियान में माफिया सरगना मुख्तार अंसारी के करीबी व सहयोगी प्रतिबन्धित मछली माफिया के 4 सदस्य रामबालक साहनी, गुरुचरण सिंह, संतोष यादव व वीकोतर उर्फ वीरु को किया गया गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे 20 कुन्टल प्रतिबन्धित मछलियां भी बरामद की गयी है।

इस सम्बन्ध में लंका प्रभारी निरीक्षक अश्वनी चतुर्वेदी ने बताया कि पुलिस को पूर्व से ही सूचना मिल रही थी कि माफिया सरगना मुख्तार अंसारी के सहयोगी व गुर्गे अवैध रुप से प्रतिबन्धित मछली व अण्डे की बिक्री धड़ल्ले से कर रहे है तथा शहर के मछली मंडियों से धमकी देकर अवैध वसूली की जा रही है। इस सूचना पर विश्वास करके पुलिस व प्रशासन द्वार टीमें बनाकर जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों में छापेमारी की गयी।

उन्होंने बताया कि इस क्रम में थाना लंका थानांतर्गत रमना में प्रतिबन्धित मांगुर 15 कुन्टल अनुमानित कीमत तीन लाख रुपये बरामदगी के साथ अभियुक्त रामबालक साहनी ग्राम अवलेशपुर थाना रोहनिया जनपद वाराणसी, गुरुचरण सिंह पुत्र निवासी एन-1/65 EA शिवप्रसाद गुप्त कालोनी थाना लंका जनपद वाराणसी, संतोष यादव पुत्र पृथ्वी यादव कुदरा थाना चकिया जिला चन्दौली को गिरफ्तार किया तथा थाना शिवपुर अंतर्गत उन्दी में 5 कुन्टल प्रतिबन्धित मछलियां अनुमानित कीमत एक लाख रुपये के साथ अभियुक्त वीकोतर उर्फ वीरु निवासी उन्दी थाना शिवपुर वाराणसी को गिरफ्तार किया इस दौरान एक अभियुक्त मकसूद आलम निवासी राजा बाजार नदेसर थाना कैण्ट वाराणसी मौके से फरार हो गया। उसके विरूद्ध आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है।

बता दें कि अभियुक्त रामबालक साहनी, गुरुचरण सिंह, संतोष यादव व वीकोतर उर्फ वीरू मुख्तार अंसारी गैंग के आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने के प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रूप से सहयोगी रहे है। प्रतिबंधित ‘मांगुर’ प्रजाति की मछलियों की सप्लाई भी बनारस सहित आस-पास के जिलों में अपने अन्य सहयोगियों के माध्यम से करते है। यह भी गोपनीय रूप से संज्ञान में आया है कि मछली बाजार/ठेका पर अपनी धौंस दिखाकर मछली के व्यापार पर एकाधिकार कब्जा रखना चाहते है। पूछताछ/गोपनीय जानकारी से यह प्रकाश में आया है कि यह व्यापार के माध्यम से माफिया मुख्तार अंसारी के गुर्गों को आर्थिक मदद/धन भी मुहैया कराते है।

पुलिस द्वारा इन सभी के आपराधिक इतिहास खंगाले जा रहे हैं। इन्हे पकड़ने में पुलिस टीम थाना लंका, शिवपुर पुलिस टीम व जिला प्रशासन (खाद्य सुरक्षा विभाग व मत्स्य विभाग) टीम जनपद वाराणसी ने मुख्य भूमिका निभाई।

विज्ञापन