विज्ञापन

वाराणसी। मकर संक्रांति का त्योहार कल मनाया जाएगा, जिसको लेकर वाराणसी के बाजारों में लाई पट्टी की दुकानों पर ग्राहको की भाड़ी भीड़ लग रही है। इस पर्व में गंगा स्नान के साथ ही तिल, चावल और पट्टी के दान करने का बहुत ही महत्व है।

विज्ञापन

इस संबंध में हमारे संवाददाता ने पांडेयपुर में लाई पट्टी के दुकानदार पूजा मोदनवाल से बात की। उन्होंने बताया किहमारे यहां पट्टी की बहुत सी वेराइटी है, जिसमे बादाम चिक्की, गुड़ का गजक, चीनी का गजक और तिल की पट्टी है।

विज्ञापन

हम लोग दो महीने पहले से ही तैयारी में लग जाते हैं। हमारे दुकान पर 80 से लेकर 200 से 200 रुपये तक की गजक मौजूद है। इस बार सभी तरह के गजक में 20 रुपये की वृद्धि हुई है।

विज्ञापन

इसके साथ ही दूकानदार सोनू सोनकर ने बताया की बद्री पड़ने के कारण तिल का पट्टी बनाने में बहुत ही परेशानी हो रही है। इसलिए हमलोग दो महींने पहले ही सभी सामान खरीदकर पट्टी बनाना शुरू कर देते हैं।

विज्ञापन

देखें तस्वीरें 

विज्ञापन
Loading...