विज्ञापन

वाराणसी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व काशी हिंदू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता रत्नाकर पांडेय का सोमवार सुबह निधन हो गया। उनके निधन से वाराणसी के विभिन्न राजनीतिक दलों के पुराने नेताओं में शोक है। साथ ही कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने भी अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने शोक संदेश जारी कर पीड़ित परिजनों को सहानुभूति दी है।

दरअसल, कांग्रेस नेता रत्नाकर पांडेय पिछले कुछ महीनों से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझ रहे थे। सोमवार को सुबह उनके निधन की खबर सुनकर पूरे शहर में शोक की लहर दौड़ गई। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उनके आवास पर लोगों ने उनके अंतिम दर्शन किए।

कांग्रेस नेता रत्नाकर पांडेय का अंतिम संस्कार हरिश्चंद्र घाट पर किया गया। वहीं, आज दिन भर सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा रहा।

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर समेत तमाम नेताओं ने सोशल मीडिया पर उनकी फोटो शेयर करते हुए श्रद्धांजलि दी है।

रत्नाकर पांडेय को मुखाग्नि उनके बड़े बेटे शरद पांडेय ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए दिया। इस मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कई कांग्रेसी नेता मौजूद रहे। दिवंगत कांग्रेस नेता अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ के गए हैं।

अत्यंत मृदुभाषी स्वर्गीय रत्नाकर पांडेय बनारस में अपने विरोधी दल के नेताओं में भी काफी अजीज रहे।

विज्ञापन