बड़ी खबर : वाराणसी के एसएसपी प्रभाकर चौधरी का ट्रांसफर

Advertisements

वाराणसी। जि‍ले के तेज तर्रार वरि‍ष्‍ठ पुलि‍स अधीक्षक प्रभाकर चौधरी का मंगलवार शाम शासन ने ट्रांसफर कर दि‍या है। प्रभाकर चौधरी को मुरादाबाद की कमान दी गयी है।

शासन स्‍तर से चार आईपीएस अफसरों के ट्रांसफर कि‍ये गये हैं। इनमें आईपीएस प्रभाकर चौधरी को वाराणसी से स्‍थानान्‍तरि‍त करते हुए मुरादाबाद भेजा गया है। वहीं अबतक मुरादाबाद के एसएसपी रहे अमि‍त पाठक को वाराणसी में नयी तैनाती दी गयी है।

बता दें कि‍ वाराणसी के नि‍वर्तमान एसएसपी प्रभाकर चौधरी को 31 अक्‍टूबर 2019 को वाराणसी की कमान सौंपी गयी थी। इस दौरान उनकी पहचान ना सि‍र्फ कड़क पुलि‍स ऑफि‍सर की रही, बल्‍कि‍ उन्‍होंने जनता के लि‍ये एक गोपनीय नंबर भी जारी करके लोगों का दि‍ल जीता था। गोपनीय नंबर पर आने वाली शि‍कायतों पर एसएसपी ने कई पुलि‍सकर्मि‍यों के खि‍लाफ कार्रवाई भी की थी।

वहीं कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन के काल में वाराणसी के एसएसपी प्रभाकर चौधरी की सख्‍त पुलि‍सिंग की भी जनता ने काफी तारीफ की थी। इनके कार्यकाल में क्राइम के मोर्चे पर वाराणसी पुलि‍स को सफल कहा जाएगा।

बात करें वाराणसी के नवनि‍युक्‍त एसएसपी अमि‍त पाठक की तो ये वर्ष 2007 के रेगुलर रि‍क्रूट आईपीएस ऑफि‍सर हैं। एसएसपी एसटीएफ के अपने तीन साल के कार्यकाल के दौरान अमित पाठक ने कई सनसनीखेज वारदात का पर्दाफाश किया था। इनमें सोशल मीडिया में सबसे बड़े 3700 करोड़ रुपए के घोटाले का पर्दाफाश कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। उनसे 650 करोड़ रुपए की बरामदगी की। इसे अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी माना गया है। अन्य चर्चित मामलों में बिजनौर में एनआइए अधिकारी तंजील अहमद और उनकी पत्नी की हत्या का पर्दाफाश किया। हत्यारोपी मुनीर को गिरफ्तार करके भेल भेजा। बिहार के चर्चित डॉक्टर दंपति अपहरण कांड के राजफाश में भी शामिल रहे। एसटीएफ टीम ने उनके नेतृत्व में डॉक्टर दंपति को सकुशल बरामद किया था। इससे पूर्व एसपी आगरा, एसपी अलीगढ़, फतेहपुर, चंदौली, एटा, एसपी रेलवे गोरखपुर एवं 36 बटालियन पीएसी वाराणसी में रहे हैं।

आईपीएस अमि‍त पाठक (फाइल फोटो)