विज्ञापन

वाराणसी। जनपद में मॉनसून के दस्तक देते ही गंगा नदी के साथ अन्य नदियों में भी जलस्तर की वृद्धी होने लगी है। इसके साथ ही वरुणा नदी के जलस्तर में एकाएक हुई वृद्धि से तटवर्ती इलाके के लोगों की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। करीब 2 दिनों से वरुणा नदी के जल स्तर में वृद्धि हो रही है। वरुणा पुल स्थित शास्त्री घाट के समीप की करीब 6 सीढ़ियां बढ़े हुए जलस्तर में डूब चुकी हैं। वहीं इमलिया घाट आदि क्षेत्रों में खेती-बाड़ी करके जीवन यापन करने वाले लोगों में बढ़ते जलस्तर से चिंता व्याप्त है।

स्थानीय लोग संभावित बाढ़ के अंदेशे से तैयारियों में जुट गए हैं। हालांकि जल स्तर बढ़ने का क्रम अभी ज्यादा गति से नहीं हो रहा है। इमलिया घाट के किसान प्रेमपाल ने बताया कि पिछली बार बाढ़ के वजह से काफी नुकसान हुआ था इस बार धान की रोपाई हो चुकी है। यदि सब सामान्य रहा तो खेती अच्छी होगी वरना बाढ़ से धानों के नष्ट होने की चिंता अभी से ही हम लोगों को सताने लगी है।

प्रेमपाल ने बताया कि बाढ़ आने का अंदेशा होते ही हर साल घर वाले और आसपास के लोग एक महीने पहले से ही पलायन करने की तैयारी में जुट जाते हैं, क्योंकि बारिश के बाद पानी का जलस्तर कब बढ़ जाएगा इसका कुछ पता नहीं चल पाता। प्रेमपाल ने कहा कि हम हर साल जल स्तर की समस्या से जूझ रहे हैं। प्रशासन से बस यही अनुरोध है कि एक बार यहां आकर इलाके का जायजा ले और हमारे धान, खेती बरबाद होने से बचा लें।

विज्ञापन