Workers special trains will also arrive at Manduadih station from today after Cantt junction
विज्ञापन

वाराणसी। लॉकडाउन-3 में प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक भेजने के लिए गृहमंत्रालय के आदेश के बाद रेलवे ने कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई। इसी क्रम में वाराणसी जंक्शन पर रोज़ाना 11 से 12 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें पहुँच रही है। लगातार श्रमिकों की बढती संख्या को देखते हुए जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शनिवार से शहर के मंडुआडीह स्टेशन को भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का अराइवल सेंटर बनाने के लिए सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है।

शनिवार से रेलवे के कर्मचारी, प्रशासनिक अधिकारी और मेडिकल टीम के साथ साथ कर्मचारी मुस्तैद दिखे। जिलाधिकारी के अनुसार यहां एक दो दिन सिफर दिन में यात्रिओं को उतारा जाएगा और उसके बाद 24 घंटे यह व्यवस्था लागू की जाएगी। इससे वाराणसी में आने वाले लोगों की संख्या एक दिन में डेढ़ गुना बढ़ जाएगी। यात्रियों की सुविधा के लिए पर्याप्त वाटर टैंकर, टेंट, बस आदि की व्यवस्था भी की जा रही है।

जिलाधिकारी के अनुसार वाराणसी में श्रमिकों के आने कि सँख्या प्रतिदिन बहुत बढ़ जाने के कारण बसों का प्रबंधन करने के लिए यह निर्णय किया गया है कि वाराणसी जनपद के यात्री अब स्टेशन से अपने गांव या शहर के मोहल्ले तक स्वयं यात्रा करें। इसके लिए शुक्रवार से ही विक्रम टेम्पो चालू करा दिए गए हैं। इनकी संख्या आज से दोनों स्टेशन से और बढ़ाई जाएगी।

विक्रम टेम्पो, बंद यात्रियों की मैजिक गाड़ी, छोटी प्राइवेट स्कूल वैन जो भी वाहन मालिक इस काम के लिए स्टेशन पर लगाना चाहे वो SP ट्रैफिक, CO ट्रैफिक या ARTO से संपर्क करे। यह उन वाहन स्वामियों के लिए भी कुछ मजदूरी कमाने का अच्छा मौका है। कुछ निजी बस भी दूसरे जनपदों को भेजने के लिए ARTO के माध्यम से किराये पर ली जा रही हैं।

इसके साथ ही कोई भी सामाजिक संस्था या व्यक्ति वाटर टैंकर, वाटर कूलर, पानी की प्याऊ, पानी के पाउच, पका पकाया भोजन या सूखी भोजन सामग्री की व्यवस्था कैंट या मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पर करना चाहे तो ADM फाइनेंस, ADM सिटी, स्टेशन डायरेक्टर या SDM सदर से संपर्क कर सकते हैं या सीधे ही सामग्री ले कर वहाँ पहुंच सकते हैं और प्रशासनिक अधिकारियों के माध्यम से बंटवा सकते हैं।

विज्ञापन